नई दिल्ली : न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च शहर की दो मस्जिद में हुए आतंकी हमले में अब तक कम से कम 49 लोगों की मौत हो गई है, जबकि 48 से ज्यादा लोग जख्मी बताए जा रहे हैं. इस हमले को अंजाम देने वाले 28 वर्षीय ब्रेंटन टैरंट को गिरफ्तार कर लिया गया है।

हत्यारे को शनिवार को अदालत में पेश किया गया। हथकड़ी और एक सफेद जेल शर्ट पहने हुए, ऑस्ट्रेलियाई मूल के ब्रेंटन टैरंट पर सिर्फ मर्डर का चार्ज लगाया गया है। हालांकि इस दौरान उसने जमानत का अनुरोध नहीं किया। उसे सुरक्षा कारणों से बंद दरवाजे के पीछे अदालत में उपस्थित किया गया।

Loading...

प्रधान मंत्री जैसिंडा अर्डर्न ने कहा कि शनिवार को कहा कि पीड़ित मुस्लिम दुनिया से थे, पाकिस्तान, तुर्की, सऊदी अरब, बांग्लादेश, इंडोनेशिया और मलेशिया ने कांसुलर सहायता प्रदान की। उन्होने इसे आतंकवादी हमला कहा है।

अर्डर्न ने कहा कि शूटर – जिसका कोई आपराधिक रिकॉर्ड नहीं था – उसने कानूनी तौर पर अपने द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली आग्नेयास्त्रों को खरीदा था: दो अर्ध-स्वचालित हथियार, दो शॉटगन और एक लीवर-एक्शन गन।

उन्होने बताया,  “अपराधी के पास एक बंदूक लाइसेंस था” जो उसने नवंबर 2017 में प्राप्त किया, और उसने अगले महीने हथियार खरीदना शुरू किया। जबकि बाकी काम उसने श्रृंखला के रूप में किया। उसने दो साल की तैयारी के बारे में एक लंबी, सहूलियत और साजिश से दूर के “घोषणा पत्र” का दस्तावेजीकरण किया।

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें