न्यूजीलैंड में मिलिट्री स्टाइल की सभी बंदूको की बिक्री पर लगा प्रतिबंध

11:34 am Published by:-Hindi News

न्यूजीलैंड की पीएम जेसिंडा अर्डर्न ने सभी प्रकार के सेमी ऑटोमैटिक हथियारों की बिक्री पर प्रतिबंध लगाने का ऐलान किया है. क्राइस्टचर्च मस्जिद पर आतंकी हमले के मद्देनजर उन्होने यह कदम उठाया है. अर्डर्न ने गुरुवार को कहा कि क्राइस्टचर्च आतंकी हमले के मद्देनजर देश में असाल्ट राइफलों और सेमी-ऑटोमेटिकक (अर्ध-स्वचालित) हथियारों की बिक्री पर तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी गई है.

उन्होंने कहा, मैं यह घोषणा कर रही हूं कि न्यूजीलैंड सभी सेमी ऑटोमेटिक हथियारों की बिक्री पर रोक होगी. हम सभी असॉल्ट राइफलों पर भी प्रतिबंध लगाते हैं. प्रधानमंत्री ने कहा कि उच्च क्षमता वाली मैगजीन और राइफल से की जाने वाली गोलीबारी को तीव्र बनाने वाले सभी डिवाइस को बेचने पर भी प्रतिबंध होगा.

उन्होंने कहा, कम शब्दों में यह कह सकती हूं कि गत शुक्रवार के आतंकी हमले में इस्तेमाल किए गए हर सेमी-ऑटोमेटिक हथियार पर अब प्रतिबंध रहेगा. यही नहीं पीएम ने पहले से लोगों के पास मौजूद हथियारों के लिए बायबैक स्कीम चलाने का भी ऐलान किया. इन हथियारों को 100 से 200 मिलियन न्यू जीलैंड डॉलर में खरीदा जाएगा.

न्यूज़ीलैंड के गृह मंत्री स्टुअर्ट नैश ने कहा, मैं याद दिलाना चाहता हूं कि बंदूक रखना न्यूज़ीलैंड में एक विशेषाधिकार है न कि निजी अधिकार. न्यूज़ीलैंड में बंदूक रखने के क़ानून के तहत, ए कैटेगरी के हथियार सेमी-ऑटोमेटिक हो सकते हैं जिनमें एक बार में सात गोलियां भरी जा सकती हैं. एक अनुमान के अनुसार देश में इस समय कुल 15 लाख हथियार हैं.

गौरतलब है कि गत शुक्रवार को दो क्राइस्टचर्च की दो मस्जिदों में की गई गोलीबारी में 50 मुस्लिमों की मौत हो गई थी. हमलावर ऑस्ट्रेलियाई नागरिक है जिसे गिरफ्तार कर लिया गया है. 28 साल का टन टैरेंट हेलमेट लगाकर मस्जिद में घुसा और ‘चलो पार्टी शुरू करते हैं’ कहते हुए ताबड़तोड़ गोलियां बरसाने लगा. जिस वक्त ये हमला हुआ मस्जिद नमाज़ियों से भरी हुई थी. बांग्लादेश की क्रिकेट टीम भी वहां मौजूद थी.

खानदानी सलीक़ेदार परिवार में शादी करने के इच्छुक हैं तो पहले फ़ोटो देखें फिर अपनी पसंद के लड़के/लड़की को रिश्ता भेजें (उर्दू मॅट्रिमोनी - फ्री ) क्लिक करें