नीदरलैंड्स: ईवीएम हैकिंग के चलते बैलेट पेपर पर हुआ मतदान, मुस्लिम विरोधी पार्टी को लगा झटका

ईवीएम मशीनों में वोटिंग के दौरान गड़बड़ी का मुद्दा अभी भारत में शांत भी नहीं हुआ था कि नीदरलैंड्स में इसी सम्भावना के चलते ईवीएम मशीनों से वोटिंग को रद्द करके बैलेट पेपर पर मतदान कराकर चुनाव संपन्न कराया गया. इस दौरान मतदाताओं ने लाल बॉल पेन का उपयोग कर मतदान किया.

नीदरलैंड्स में तीन मुख्य पार्टियां हैं- फ्रीडम पार्टी (पीवीवी), द क्रिश्चियन डेमोक्रेट पार्टी और द लिबरल पार्टी. इन चुनावो में नीदरलैंड्स के प्रधानमंत्री मार्क रूट की पार्टी सबसे आगे चल रही हैं. अनुमान के मुताबिक उनकी पार्टी को 150 में से 31 सीटें मिल सकती हैं.

वहीँ उनके सामने देश के अल्प्संख्यक मुस्लिम समुदाय की कट्टर विरोधी गीर्ट वाइल्डर्स की फ्रीडम पार्टी शुरूआती ओपीनियन पोल में सबसे आगे चल रही थी लेकिन अब पीछे हो गई हैं. हाल ही में गीर्ट वाइल्डर्स ने चुनाव प्रचार के दौरान नीदरलैंड्स में मस्जिदों और कुरान को प्रतिबंधित करने का वादा किया था.

माना जा रहा हैं इन चुनावों के बाद नीदरलैंड्स में गठबधन की सरकार ही बनेगी. बहुमत हासिल करने के लिए फ्रीडम पार्टी को कम-से-कम तीन अन्य पार्टियों गठजोड़ करना पड़ सकता है.

विज्ञापन