Saturday, September 18, 2021

 

 

 

जाकिर नाईक के खिलाफ प्रत्यर्पण की कार्रवाई के लिए सबूत की जरूरत: मलेशियाई नेता

- Advertisement -
- Advertisement -

नई दिल्ली: विवादित सलफ़ी उपदेशक जाकिर नाईक के भारत प्रत्यर्पण को लेकर मलेशिया सरकार के एक सांसद अनवर इब्राहिम ने कहा कि इसके लिए हमें सबूतों की जरूरत है सिर्फ अनुरोध पर कार्रवाई नहीं की जा सकती है.

उन्होंने कहा कि जाकिर नाईक के खिलाफ ‘ठोस सबूत’ मिलने के बाद मलेशिया सरकार कार्रवाई करेगी. उन्होंने यह भी कहा कि अभी तक भारत की तरफ से कोई औपचारित सबूत पेश नहीं किए गए हैं.

उन्होंने कहा, ‘अभी हमारे पास उनको वापस लाने का सिर्फ अनुरोध है, कागजात और दस्तावेज उपलब्ध कराने जाने चाहिए. मैंने पीएम मोदी को स्पष्ट किया है कि आतंकवाद के मुद्दों को हमारे द्वारा समर्थन नहीं किया जाएगा.’

अंग्रेजी अखबार ‘द हिंदू’ को इंटरव्यू देते हुए इब्राहिम ने कहा, ‘नाईक का मुद्दा मेरे साथ व्यक्तिगत रूप से नहीं उठाया गया है. जब तक हमें विस्तृत जानकारी नहीं मिलती है, हम आरोपों का समर्थन नहीं करेंगे. हमें कुछ सबूतों की आवश्यकता है.’

उन्होंने कहा, ‘मलेशिया आंतकवाद को लेकर काफी सख्त है और यदि हमें ठोस सबूत मिलते हैं कि कोई इन चीजों में संलिप्त है तो हम इसे बर्दाश्त नहीं करेंगे. सरकार सिर्फ अनुरोध पर कार्रवाई नहीं करेगी.’

बता दे कि अनवर इब्राहिम नई दिल्ली में हो रहे ‘रायसीना डॉयलॉग’ में हिस्सा लेने भारत आए हैं. दोनों नेताओं ने ‘रायसीना डॉयलॉग’ के दौरान हुई साइडलाइन बैठक में भारत-मलेशिया द्विपक्षीय संबंधों को और मजबूत करने के लिए कदमों पर चर्चा की.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles