देश भर में कठुआ रेप केस में 8 साल की मासूम बच्ची के लिए आवाज बुलंद की जा रही है. वहीँ दूसरी और लेखिका मधु किश्वर के खिलाफ इस सबंध में झूठी सूचनाएं ट्वीट करने को लेकर आपराधिक शिकायत दर्ज कराई गई है.

वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण ने सोमवार को दिल्ली के तिलक मार्ग थाने में मधु किश्वर के खिलाफ “आईपीसी की धारा 153 ए, 295 ए और 505 के तहत शिकायत दर्ज कराई है. उन्होंने शिकायत के साथ मधु किश्वर का 14 अप्रैल, 2018 का ट्वीट भी संलग्न किया है. जो कठुआ केस के सिलसिले में था.

उन्होंने अपनी शिकायत में कहा कि मधु किश्वर आदतन फेक न्यूज फैलाती है जिससे सांप्रदायिक घृणा और हिंसा फैलने का खतरा रहता है. वे सोचती हैं कि उनकी इन हरकतों को कई नहीं पकड़ पाएगा, लेकिन अब समय आ गया है कि उन्हें रोका जाए.”

Image result for madhu kishwar

बता दें कि मधु किश्वर ने अपने ट्वीट में लिखा था कि “हो सकता है कि आरोपियों के परिवार को बलि का बकरा बनाया जा रहा हो.” किश्वर ने आगे लिखा था कि, “शक है कि आसिफा की हत्या उन जेहादी रोहिंग्या ने की हो जिन्हें पीडीपी ने जम्मू रीजन में बसाया है. चूंकि रोहिंग्या को जम्मू रीजन में बसाए जाने से जम्मू के हिंदू नाराज हैं, इसलिए महबूबा ने इस हत्या को जवाबी रणनीति के तौर पर इस्तेमाल किया हो.”

इस मामले में खुद प्रशांत भूषण ने ट्वीट कर लिखा, ‘उनके झूठ के पर्दाफाश करने का वक्त आ गया है.’ नेशनल हेरल्ड से बातचीत में प्रशांत भूषण ने कहा कि, “मैंने यह शिकायक इसलिए दर्ज कराई क्योंकि वे लगातार इस तरह के झूठे, सांप्रदायिक, घृणापूर्ण और हिंसा भड़काने वाले ट्वीट करती रही हैं. भारतीय दंड विधान में यह सब करना गंभीर अपराध है. प्रधानमंत्री मोदी का कोई कार्टून बना ले तो पुलिस आनन-फानन कार्रवाई कर लेती है, लेकिन लेकिन दुर्भाग्य से ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने में हिचकिचाती है जो सांप्रदायिक नफरत और हिंसा भड़काने का काम करते हैं.”

उन्होंने कहा कि पीएम का कार्टून बनाना कहीं से भी देश द्रोह नहीं है, लेकिन मधु किश्वर के ट्वीट निश्चित तौर पर देशद्रोह की श्रेणी में आते हैं. प्रशांत भूषण ने कहा कि, “मधु किश्वर के खिलाफ शिकायत दर्ज होनी चाहिए थी.बहुत से ऐसे लोग हैं जो इस किस्म के ट्वीट करते हैं. लेकिन हमें रिंग लीडर को ही पकड़ना चाहिए. मधु किश्वर ऐसे लोगों की रिंग लीडर हैं जो सांप्रदायिक अपराध करते हैं.”

कोहराम न्यूज़ को सुचारू रूप से चलाने के लिए मदद की ज़रूरत है, डोनेशन देकर मदद करें




Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें