म्यांमार सेना ने हिंसाग्रस्त राखिने में रोहिंग्या मुस्लिमों के खिलाफ सैन्य अभियान चलाया हुआ है. जिसके चलते रोहिंग्या मुसलमान जान बचाने के लिए बांग्लादेश का रुख कर रहे है. लेकिन अब बांग्लादेश भी इन लोगों को अपने यहाँ पनाह नहीं दे रहे है.

ध्यान रहे म्यांमार सरकार रोहिंग्या मुस्लिमों को बंगाली आतंकी मानती है तो वहीँ बांग्लादेश का कहना है कि रोहिंग्या मुस्लिम उसके नागरिक नहीं है. ऐसे में गुमनाम कर उन्हें अपनी ही जमीन से अलग किया जा रहा है.

म्यांमार सेना के सैन्य अभियान में अब तक 100 से ज्यादा लोग मारे जा चुके है. जिनमे दो दर्जन सुरक्षाकर्मी भी है. सैन्य अभियान को लेकर म्यांमार की दुनिया भर में आलोचना हो रही है.

बांग्लादेश भागकर पनाह ली थी।  अब बांग्लादेश के अधिकारियों का कहना है कि शरण लेने वाले इन रोहिंग्या मुसलमानों को वे वापस म्यांमार भेज रहे हैं.

2012 में बौद्ध चरमपंथियों की हिंसा के बाद से ही रोहिंग्या मुसलमान दुनिया भर में शरणार्थी के रूप में आसरा तलाश कर रहे है. लेकिन अब विभिन्न देशों ने जगह देनें से इंकार कर दिया.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?