मलेशिया की राजधानी कुआलालम्पुर में म्यांमार में रोहिंग्या मुस्लिमों पर अत्याचार को लेकर इस्लामिक देशों के संगठन OIC की बैठक में बांग्लादेश ने म्यांमार से रोहिंग्या मुस्लिमों को वापस बुलाने की मांग के साथ उनके लिए स्थाई समाधान की मांग की.

रोहिंग्या मुस्लिमों पर हो रहे अत्याचार को रोकने के लिए OIC की और से बुलाई गई आपात बैठक में बांग्लादेश सरकार ने कहा कि पिछले साल अक्टूबर में सीमा पुलिस पर हुए हमलों के बाद से शुरू हुए सेना की एकतरफा कार्रवाई के बाद 65,000 म्यांमार नागरिकों अराकान से सीमा पार कर बांग्लादेश आये हैं.

बांग्लादेश के विदेश राज्य मंत्री मोहम्मद शहरयार आलम ने कहा कि 33,000 म्यांमार नागरिक पहले से ही शरणार्थी शिविरों में रह रहे हैं. एक अनुमान के मुताबिक़ 300,000 अन्य म्यांमार नागरिक वर्तमान में इन शिविरों के बाहर रह रहे हैं.

शहरयार ने आगे कहा कि राखिने के मुसलमानों और शरणार्थियों की सतत वापसी के साथ उनके अपने देश राखिने में बुनियादी अधिकार सुनिश्चित किया जाए. उन्होंने विशेष रूप से मौजूदा अपवर्जनात्मक नागरिकता कानून की समीक्षा को आवश्यक बताते हुए उनकी नागरिकता बहाल करने पर जोर दिया.

उन्होंने ओआईसी से आग्रह करते हुए कहा कि इस समस्या के लिए एक लंबे समय से स्थायी समाधान के लिए काम जारी है.

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano