Friday, January 28, 2022

रोहिंग्याओं के घर वापसी के कोई आसार नहीं, म्यांमार ने अब किए 55 गांव तबाह

- Advertisement -

roo4

पिछले साल 25 अगस्त के बाद अपनी जान बचाने के लिए अपना सब कुछ छोड़कर लाखों की तादाद में बांग्लादेश पहुंचे रोहिंग्या मुस्लिमों की 6 बाद भी घर वापसी कोई रास्ता नहीं दिख रहा है.

दरअसल म्यांमार अंतराष्ट्रीय दबाव के चलते रोहिंग्या मुस्लिमों को वापस लेने के लिए तैयार तो हो गया है. लेकिन पीठ-पीछे रोहिंग्याओं के गाँवों को उजाड़ भी रहा है. ह्यूमन राइट वॉच की और से जारी सैटेलाइट इमेज में सामने आया किम्यांमार सरकार पर रोहिंग्या मुस्लिमों के 55 गांवों को नष्ट कर दिया.

roo1

संगठन का कहना है कि रखाइन प्रांत के नॉर्दर्न हिस्से को तबाह करने से यहां की सेना के अत्याचारों के सबूत खत्म हो सकते हैं, जिन्होंने 30 पुलिस पोस्ट पर हमले के बाद पूरा का पूरा रोहिंग्या गांव साफ कर दिया. दरअसल, अधिकारी अत्याचार के सबूतों को छिपाना चाहते हैं और उन्होंने रोहिंग्या लोगों की जमीनों पर कब्जा कर लिया है.

roo2

ह्यूमन राइट वॉच ने अपने बयान में कहा कि वो कब्रों इस्तेमाल किए गए हथियारों और उन सभी सबूतों को मिटाने में लगे हैं, जिनसे पता लगाया जा सके कि किसने ये अपराध किए हैं. क्लोरॉडो के डिजिटल ग्लोब द्वारा जारी सैटेलाइट तसवीरों के मुताबिक कई गांव अब खाली नजर आ रहे हैं.

roo3

म्यांमार के हालात के बारे में द इंडिपेंडेंट को महिला ने बताया कि जब अपने घर वापस बांग्लादेश से लौटी तो उसका घर जलकर राख हो चुका था, यहां सबकुछ खत्म कर दिया गया है. उसने बताया कि ना सिर्फ घर बल्कि यहां के पेड़-पौधों को भी नष्ट कर दिया गया है, बुल्डोजर से सबकुछ तहस-नहस कर दिया गया है, बड़ी मुश्किल से मैं अपना घर पहचान सकी. यहां कोई भी घर नहीं बचा है, उन लोगों ने कुछ भी नहीं छोड़ा सबकुछ खत्म कर दिया है.

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles