म्यांमार में रोहिंग्या मुस्लिमों के हक़ के लिए आवाज उठाने वाले और आंग सान सूची की राजनीतिक पार्टी एन एल डी के सलाहकार कोनी को यांगून एयरपोर्ट पर गोली मार कर हत्या कर दी गई थी. सोमवार को उनके जनाजें में लाखों लोगों ने शामिल होकर उन्हें अंतिम विदाई दी.

उन्हें लाखो लोगों की मौजूदगी में यंगून के बाहरी इलाके में एक मुस्लिम कब्रिस्तान में दफ़नाया गया. उनके परिवार का कहना हैं कि राजनीति कारणों की वजह से उनकी हत्या की गई हैं. सत्तारूढ़ पार्टी ने उनकी हत्या को एक आतंकी कारवाई करार दिया हैं.

प्राप्त जानकारी के अनुसार, पुलिस ने 53 वर्षीय की लिन नामक व्यक्ति को हमला के आरोप में गिरफ्तार किया हैं. लिन ने उस वक्त उन पर हमला किया जब वे विदेश यात्रा से वापस म्यांमार लोंटे थे. और उनकी एअरपोर्ट पर हत्या कर दी गई. उनके साथ एक टैक्सी ड्राइवर भी मारा गया.

कोनी 1988 में सरकार विरोधी आंदोलन का हिस्सा रहे जिसके कारण उन्हें जेल भी जाना पड़ा. जेल से रिहा होने के बाद उन्होंने वकालत की. और एन एल डी के सलाहकार के रूप में अपनी सेवाएं दी. कोनी ने पिछले साल म्यांमार मुस्लिम लायर्ड एसोसिएशन की स्थापना की और वे देश में मुसलमानों के अधिकारों के लिए आवाज उठाते रहे हैं


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें