अपनी आगामी फिल्म 2.0 के ऑडियो प्रीमियर के लिए दुबई पहुंचे सुपरस्टार रजनीकांत ने मुस्लिमों के साथ उनके रिश्तें को लेकर रौशनी डाली.

उन्होंने बताया कि, “जब मैं 70 के दशक में बस कंडक्टर था, तो ट्रांसपोर्ट में काम करने वाले ज्यादातर लोग मुस्लिम थे. जब मैं चेन्नई आया तो एक दोस्त के घर किरायेदार के तौर पर रहा. उस बिल्डिंग का मालिक एक मुस्लिम दोस्त था. जब मैं मशहूर हुआ तो पियोस गार्डन में खुद का घर खरीदा, वह भी मुस्लिम समुदाय के एक शख्स का था.”

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्होंने कहा, ”मेरे गुरु श्री राघवेंद्र स्वामी हैं। जिस जमीन पर मंत्रालयम बना है, वह नवाब ने दी थी.” इसके अलावा ”यहां तक कि पहले राघवेंद्र मंडपम का मालिक भी मुस्लिम ही था”.

इस दौरान उन्होंने दुबई शासक का भारतीय लोगो को नौकरी देने के लिए शुक्रिया भी अदा किया. दुबई को लेकर उन्होंने कहा कि “मैं पहले कई बार दुबई से होकर गुजरा हूं, लेकिन कभी एयरपोर्ट से बाहर नहीं आया. यह पहली बार है, जब मैं दुबई आया हूं.”

इसके अलावा उन्होंने अपनी फिल्मों के बारे में भी बातचीत की, उन्होंने कहा, मैंने कई फिल्मों में काम किया है, लेकिन आज भी अगर कोई फिल्म उन्हें झटका दे सकती है, वह है बाशा.

Loading...