जेरुसलम के मुद्दे पर इस्लामी सहयोग संगठन (OIC) की बैठक में शामिल होने के लिए इस्तांबुल रवाना होने से पहले इस्लामी गणतंत्र ईरान के राष्ट्रपति डाक्टर हसन रूहानी ने दुनिया भर के मुस्लिमो से एकजुट होने की अपील की है.

मंगलवार की शाम को हरान के मेहराबाद हवाई अड्डे पर पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा कि अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प का एलान क्षेत्र में एक नए तनाव के जन्म लेने की शुरुआत बनेगा और अगर मुसलमानों ने आपस में एकता दिखायी और इस एलान के ख़िलाफ़ डट गए तो इसमें मुसलमानों और फ़िलिस्तीनियों को बहुत बड़ी सफलता मिलेगी.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

ईरानी राष्ट्रपति ने फ़िलिस्तीन को दुनिया के मुसलमानों का सबसे अहम मुद्दा बताते हुए कहा कि आज मुसलमानों के सामने एकता के अलावा कोई और रास्ता नहीं है और सबको चाहिए कि एक आवाज़ में अमरीका के ग़लत फ़ैसले के ख़िलाफ़ डट जाएं.

उन्होंने कहा कि क़ुद्स से मुसलमानों, ईसाइयों और यहूदियों का संबंध है न कि ज़ायोनियों का, ज़ायोनी तो इस शहर में अजनबी हैं.

ध्यान रहे अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के जेरुसलम को इजरायल की राजधानी के रूप में मान्यता देने के फैसले के खिलाफ कदम उठाने के लिए तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैय्यब एर्दोगान ने इस्लामी सहयोग संगठन (OIC) की आपातकालीन बैठक बुलाई है.