पैगंबर मुहम्मद (सल्ल) के कथित कार्टून कक्षा में दिखाने और उनका उपहास उड़ाने को लेकर शुक्रवार रात पेरिस के उपनगर में की एक फ्रांसीसी इतिहास शिक्षक सैमुअल पैटी की हत्या की मुस्लिम वर्ल्ड लीग (MWL) के प्रमुख शेख मोहम्मद बिन अब्दुल करीम अल-इस्सा ने कड़ी निंदा की।

अल-इसा ने कहा कि हिंसा और आतंकवाद के कार्य सभी धर्मों में अपराध के रूप में माने जाते हैं और उन्हें आपराधिक आक्रामकता के उच्चतम स्तर के रूप में वर्गीकृत किया गया है। उन्होंने आतंकवाद से लड़ने के लिए हर संभव प्रयास करने और अपनी बुराई को जड़ से उखाड़ने पर जोर दिया।

उन्होने कहा, ऐसे अपराधों को प्रोत्साहित करने वाली चरमपंथी विचारधारा को हराना भी शामिल है। उन्होंने देश की विविधता और अपनी एकता बनाने वाले देश के विविध चरित्र को बनाए रखने के लिए फ्रांस का आह्वान किया। उन्होंने देश के नेताओं से सभी प्रकार के आतंक के खिलाफ एक के रूप में खड़े होने का आह्वान किया।

वहीं काहिरा में सुन्नी मुस्लिम शिक्षा का सबसे बड़ा केंद्र, अल-अजहर ने कहा “इस जघन्य अपराध और अन्य सभी आतंकवादी कृत्यों” की निंदा करता है। बयान में कहा गया, “हत्या एक अपराध है जिसे किसी भी तरह से उचित नहीं ठहराया जा सकता है। अल-अजहर भी अभद्र भाषा और हिंसा की निंदा के लिए अपने निरंतर आह्वान को रेखांकित करता है।

मारे गए शिक्षक ने कॉलेज डु बोइस डी’ऑल में इतिहास और भूगोल पढ़ाया। अक्टूबर की शुरुआत में, उन्होंने अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता की आढ़ में पैगंबर मुहम्मद के कार्टून को विद्यार्थियों को दिखाया। हमले के बारे में पूछताछ के लिए नौ लोगों को हिरासत में लिया गया है, जिसमें एक छात्र का पिता भी शामिल है जिसने कक्षा के बारे में शिकायत की थी।

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano