लन्दन | ब्रिटेन से उन मुस्लिम महिलाओ के लिए खुशखबरी आई है जो तैराकी में रूचि रखती है लेकिन उसकी पोशाक की वजह से अपने कदम पीछे खींच लेती है. ऐसी मुस्लिम महिलाओ के लिए ब्रिटेन की स्विमिंग एसोसिएशन ने बुर्किनी पहनकर तैराकी कॉम्पिटिशंस में भाग लेने की इजाजत दे दी है. स्विमिंग एसोसिएशन को उम्मीद है की इस फैसले के बाद लोकल लेवल पर होने वाले तैराकी कॉम्पिटिशंस में काफी लोग रूचि दिखाएँगे.

द टेलीग्राफ की खबर अनुसार ब्रिटेन की एमेच्योर स्विमिंग एसोसिएशन (ASA) ने तैराकी प्रतियोगिता के लिए पहने जाने वाले स्विम शूट रेगुलेशन में थोड़ी ढील देने का फैसला किया. इसके लिए ASA ने नयी गाइडलाइन भी जारी की है. नयी गाइडलाइन के अनुसार कोई भी महिला लोकल लेवल की तैराकी प्रतियोगिता में बुर्किनी ( शरीर को पूरा ढकने वाला स्विम शूट ) पहनकर तैराकी कर सकेगी.

हालाँकि गाइडलाइन में यह भी कहा गया की वो महिलाये जो बुर्किनी पहनकर तैराकी करना चाहती है उनको पहले ,प्रतियोगिता के रेफरी को इसके बारे में सूचना देनी होगी. रेफरी बिना कोई सवाल पूछे प्रतियोगी महिला को इसकी इजाजत देगा क्योकि ASA नही चाहता की बुर्किनी को लेकर कोई भी सवाल किया जाए. प्रतियोगिता शुरू होने के बाद अगर रेफरी को ऐसा लगता है की बुर्किनी से प्रतियोगी को कुछ फायदा मिल रहा है तो वह प्रतियोगी को बुर्किनी पहनने से रोक सकता है.

यह छूट केवल मुस्लिम महिलाओं पर ही लागु होगी. इसके अलावा यह छूट सिर्फ लोकल प्रतियोगिता के लिए ही दी जायेगी. अन्तराष्ट्रीय या ओलिंपिक तैरॉक को यह छूट नही दी जायेगी. नयी गाइडलाइन जारी करते हुए ASA स्पोर्ट गवर्निंग बॉडी के चेयरमैन क्रिस बोस्टॉक ने कहा की हम चाहते है सभी अपनी क्षमता के मुताबिक प्रदर्शन करे. उम्मीद है इस फैसले से नई पीढ़ी जरुर प्रोत्साहित होगी और तैराकी प्रतियोगिता में अच्छी खासी संख्या में लोग हिस्सा लेंगे.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?