इराक में लड़ते हुए मारे गए पाकिस्तान मूल के एक अमेरिकी सैनिक के पिता ने राष्ट्रपति पद के रिपब्लिकन उम्मीदवार डॉनल्ड ट्रंप पर उनकी विचारधारा को लेकर कहा कि ट्रंप अल्पसंख्यक समुदाय का सम्मान नहीं करते हैं.  उनके विचार विभाजनकारी हैं.

उन्होंने ट्रम्प को लताड़ लगाते हुए कहा कि मेरे बेटे ने तो अमेरिका की रक्षा के लिए जान दी, ट्रंप ने क्या कुर्बानी दी ?  खिज्र खान नाम के मुस्लिम शख्स ने डेमोक्रैटिक सभा के दौरान  अपनी जेब से अमेरिकी संविधान की एक कॉपी निकालते हुए पूछा कि क्या आपने (ट्रंप) कभी इसे पढ़ा है? अगर नहीं पढ़ा तो मैं उन्हें इसकी कॉपी उपलब्ध करवा सकता हूं.

उन्होंने आगे कहा कि संविधान में सभी के लिए बराबर कानून, सभी के लिए सुरक्षा की बात कही गई है. खिज्र की इन बातों को जनता का समर्थन मिला. खिज्र यही नहीं रुके, उन्होंने कहा कि ‘हम दीवार बनाकर और विभाजनकारी विचारों से समस्याओं का हल नहीं कर सकते’.

खिज्र खान के बेटे हुमायूं खान अमेरिकी सेना में कैप्टन थे. जून 2004 में इराक में एक कार बम विस्फोट के दौरान उनकी मौत हो गई थी. उन्हें अर्लिंगटन सेमेट्री में दफन किया गया है. उन्हें अमेरिकी सम्मान ब्रॉन्ज स्टार और पर्पल हार्ट से सम्मानित किया गया.

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें