ग्लासगो स्कॉटलैंड एक गिरजाघर का विडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा था. जिसे यूट्यूब ने अपनी वेबसाइट से हटा दिया हैं. इस विडियो में एक मुस्लिम लडकी हजरत ईसा को अल्लाह के बेटा (ईसाई अकीदे के मुताबिक) मानने से इनकार कर रही हैं.

दरअसल, 6 जनवरी को यीशु के जन्मोत्सव के उपलक्ष्य में एक दावत का आयोजन किया था. इस दावत में आसपास के स्थानीय मुसलमानों को भी सम्मिलित किया गया था. इस दौरान मुस्लिमों ने कुरान के अनुसार, हजरत ईसा और हजरत मरियम के मर्तबे का जिक्र किया.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इसी दौरान एक मुस्लिम लड़की ने कुरान ए पाक की सुरह मरियम की तिलावत की और इसका हवाला देते हुए हजरत ईसा को अल्लाह का बेटा मानने से इनकार करते हुए उनकी इबादत करने से मना कर दिया. उसने हजरत ईसा को अल्लाह का पैगमबर बताया.

आयोजन के दौरान पढ़ी गयी क़ुरान की आयात की कुछ एंग्लिकनस ने आलोचना करते हुए कहा कि ये पूरी तरह इसाई मान्यताओं के ख़िलाफ़ है. जबकि गिरजाघर के वरिष्ठ पादरी ने इसका बचाव करते हुए कहा कि इस आयोजन का उद्देशय दो धर्मों के बीच समझ को बढ़ावा देना था.

उन्होंने कहा कि स्थानीय स्तर पर दोस्ती को मजबूत बनाने, हमारी समानताओं के बारे में जागरूकता और हमारे मतभेदों के बारे में विमर्श के लिए इस तरह का आयोजन पहले भी कई अन्य चर्चों में हो चुका है.

Loading...