Tuesday, September 28, 2021

 

 

 

ब्रिटिश एयरफोर्स में पहली बार कोई मुस्लिम और सिख बना रॉयल एयरफोर्स का सदस्य

- Advertisement -
फ्लाइट लेफ्टिनेंट मंदीप कौर का जन्म पंजाब तथा फ्लाइट लेफ्टिनेंट अली उमर का केन्या में जन्म हुआ. रक्षा मंत्रालय ने कहा कि मंदीप को इंजीनियरिंग में डॉक्टरेट करने और इस दिशा में काम करने के के दौरान चैपलेन का सदस्य चुना गया. ये नियुक्तियां मंत्रालय की सशस्त्र बलों में विविधता को बढ़ावा देने की रणनीति का हिस्सा हैं.
- Advertisement -

‘ए फोर्स फॉर इंक्लूजन’ नाम की इस रणनीति का मकसद यह सुनिश्चित करना है कि विविधता और समावेश सभी विभागीय कामों का मुख्य हिस्सा है, जिसमें श्रमबल नीतियां, संस्कृति और व्यवहार शामिल हैं. आरएएफ चैपलेन इन चीफ जॉन एलिस ने कहा, ‘सिख और मुस्लिम चैपलेन को रॉयल एयर फोर्स में शामिल करना बेहद खुशी की बात है और मैं भविष्य में उनके साथ काम करने को लेकर अशान्वित हूं.’

screenshot 14

ब्रिटिश वायु सेना का इतिहास काफी लंबा है. ब्रिटेन दुनिया में तकनीकी रूप से सबसे ज्यादा उन्नत और सर्वश्रेष्ठ प्रशिक्षित सशस्त्र सेनाओं को तैनात करता है. रक्षा मंत्रालय सहित विभिन्न स्रोतों के अनुसार, जनशक्ति के हिसाब से केवल 27 सबसे बड़े सैन्य होने के बावजूद, UK का सैन्य खर्च दुनिया में तीसरा सर्वाधिक है.

वर्तमान में कुल रक्षा खर्च, राष्ट्रीय कुल GDP का 2.5% है. यूनाइटेड किंगडम, परमाणु हथियार रखने के लिए पाँच मान्यता प्राप्त देशों में से एक हैं, जो मोहरा वर्ग पनडुब्बी आधारित ट्रिडेंट द्वितीय बैलिस्टिक मिसाइल प्रणाली का उपयोग करते हैं.

आरएएफ चैपलेन इन चीफ जॉन एलिस ने कहा, ‘सिख और मुस्लिम चैपलेन को रॉयल एयर फोर्स में शामिल करना बेहद खुशी की बात है और मैं भविष्य में उनके साथ काम करने को लेकर अशान्वित हूं.’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles