fr

fr

इस्लाम्फोबिया से ग्रस्त यूरोपीय देशों में मुस्लिमों की धार्मिक स्वतंत्रता को कुचला जा रहा है. मानवाधिकारों पर जोर देने वाले फ्रांस में कट्टरपंथ और उग्रवाद को बढ़ावा देने का आरोप लगाकर एक मस्जिद को 6 महीने के लिए बंद कर दिया गया.

प्राप्त जानकारी के अनुसार, फ्रांस के दक्षिणी शहर मार्सेल के गवर्नर ने शहर की “अस्सुन्नाह” नामक मस्जिद में 6 महीने के लिए बंद करने का आदेश दिया गया.

उन्होंने मस्जिद के इमाम पर कट्टरवाद फैलाने और मस्जिद में आने वाले लोगों को उग्रवाद के लिए उकसाने का आरोप लगाते हुए अस्सुन्नाह मस्जिद में धार्मिक कार्यों पर रोक लगा दी.

इस मामले की उन्होंने अदालत में भी शिकायत की. अदालत ने भी पने आदेश में मस्जिद के इमाम को लोगों के बीच घृणा फैलाने और अतिवादी विचारधारा को प्रोत्साहित करने का दोषी ठहराया.

उल्लेखनीय है कि फ्रांसीसी सरकार ने 13 नवंबर 2015 को पेरिस में हुई आतंकवादी घटना के बाद देश भर में आपातकाल लागू करने के साथ उग्रवाद को बढ़ावा देने में शामिल 19 मस्जिदों पर ताला लगा दिया था.

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें