सऊदी अरब के नेतृत्व में हौथी विद्रोहियों के साथ लड़े जा रहे यमन में युद्ध से 2020 में 158,000 से अधिक लोग विस्थापित हुए हैं। इंटरनेशनल ऑर्गनाइजेशन फॉर माइग्रेशन (IOM) ने गुरुवार को ये जानकारी दी।

आईओएम यमन ने फेसबुक पर कहा, “इस साल की शुरुआत के बाद से यमन में 158,200 से अधिक लोग विस्थापित हुए हैं।” तेल-और गैस-समृद्ध मारिब क्षेत्र से सबसे अधिक विस्थापन हुआ है।

मारिब क्षेत्र से 100,000 से अधिक लोग शहर और आसपास के क्षेत्रों में भीड़-भाड़ वाले विस्थापन स्थलों पर जा रहे हैं।” दरअसल, सरकारी बलों और हौथी विद्रोही समूह के बीच लड़ाई कई मोर्चों पर तेज हो गई, विशेष रूप से मारिब में।

2014 के बाद से ही यमन हिंसा और अराजकता से घिरा हुआ है, जब हौथी विद्रोहियों ने राजधानी सना सहित देश के अधिकांश हिस्सों पर कब्जा कर लिया था।

2015 में संकट बढ़ गया जब सऊदी के नेतृत्व वाले गठबंधन ने हौथी विद्रोहियों से जीते हुए क्षेत्र वापस पाने के उद्देश्य से विनाशकारी हवाई अभियान शुरू किया।

माना जाता है कि नागरिकों सहित 100,000 से अधिक यमनियों को संघर्ष में मार दिया गया है, जिसके कारण दुनिया का सबसे बड़ा मानवीय संकट पैदा हो गया है, जिसमें लाखों पर भुखमरी का खतरा है।

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano