जापान में एक कंपनी ने चलती-फिरती मस्जिद बनाई है। इस मस्जिद में चलते-फिरते नमाज पढ़ी जा सकती है। दरअसल अगला ओलिंपिक 2020 में टोक्यो में होना है। इसे देखते हुए जापान ने मोबाइल मस्जिदें बनाई हैं।

टोकयो की एक स्पोर्ट्स कंपनी ने ट्रक पर एसी व्यवस्था बनाई है, जिससे इस पर बिना किसी परेशानी के नमाज अदा की जा सकती है। इनमें एक बार में 50 लोग नमाज अदा कर सकेंगे। इनमें वजू (हाथ धोने) करने के लिए वॉशिंग एरिया भी है। इन्हें खेल के दौरान स्टेडियम के बाहर खड़ा किया जाएगा।

याशू प्रोजेक्ट के सीईओ याशुरु इनोउ ने कहा कि हो सकता है कि 2020 में जब दुनिया भर के लोग इस देश में ओलंपिक खेलों में शिरकत करने आए तो यहां नमाज पढ़ने के लिए मस्जिदों की कमी पड़ जाए। इस लिहाज से ये मोबाइल मस्जिद कारगर साबित होगी। उनका कहना है कि ये मोबाइल मस्जिद अलग-अलग जगहों में जा सकती है।

उन्होंने कहा, “एक खुले और मेजबानी के लिए प्रसिद्ध देश होने के नाते हमलोग जापानी मेजबानी की परंपरा को मुस्लिम लोगों को बताना चाहते हैं। पहले मोबाइल मस्जिद का उद्घटान इस सप्ताह टोयोटो स्टेडियम के बाहर किया गया था। 25 टन की क्षमता वाले इस ट्रक में 50 लोग एक साथ नमाज पढ़ सकते हैं। इस ट्रक में बाहर हाथ-मुंह धोने की भी व्यवस्था की गई है।

कंपनी ने कहा कि अगर सीरिया से दुनिया के अलग अलग जाने वाले शरणार्थी, इसके अलावा इंडोनेशिया, मलेशिया, अफ्रीका और मध्य पूर्व के लोग इसका इस्तेमाल करते हैं और शांति को बढ़ावा देते हैं तो उन्हें खुशी होगी। इनोउ ने बताया कि चार साल पहले वे कतर गए थे। वहां से इस तरह की मस्जिद बनाने का विचार आया।