edward snowden

edward snowden

अमरीका के जासूसी कार्यक्रम की पोल खोलने वाले पूर्व एजेन्ट एडवर्ड स्नोडन ने एक बार फिर अमरीका की चालबाज़ियों का रहस्योद्घाटन करते हुए कहा कि अमरीका ने पूर्वी अफ़ग़ानिस्तान में बनाए गये सीआईए के गुप्त ठिकानों को मिटाने के लिए मदर्स आफ़ आल बम का प्रयोग किया है।

प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार दुनिया भर के मीडिया अमरीका द्वारा प्रयोग किए गये बम के समाचारो से भरे पड़े हैं जो उसने तोरा बोरा की गुफाओं को तबाह करने के लिए प्रयोग किया था जिसके बारे में कहा जाता है कि 11 सितंबर के हमलों के बाद ओसमा बिन लादेन ने वहां शरण ली थी।

अमरीका का दावा है कि दाइश के आतंकवादी इस स्थान को शरण के रूप में प्रयोग करते हैं किन्तु प्रश्न यह है कि अमरीका समर्थित आतंकवादी इतनी गुप्त शरण स्थली किस प्रकार खोज सकते हैं?

सूत्रो के अनुसार क्या अमरीका का यह हमला, दाइश के गुप्त ठिकानों से जिन्हें अमरीका की ख़ुफ़िया एजेन्सी सीआईए ने ओसामा की सहायता से तैयार किया था, अपने प्रमाण मिटाने के लिए था जिस पर एक करोड़ साठ लाख डालर का ख़र्चा आया था।

स्नोडन के अनुसार अफ़ग़ानिस्तान में जिन शरण स्थलियों पर बमबारी की जा रही है, उनके निर्माण का ख़र्चा भी हमने ही उठाया था। सिविल इन्जीनियरिंग पढ़ चुके ओसामा बिन लादेन ने युवा काल में पहली बार तोरा बोरा की गुफाओं में क़दम रखा जब बीस साल पहले वाशिंग्टन, अफ़ग़ानिस्तान में रूस के विरुद्ध स्थानीय लड़ाकों की सहायता कर रहा था।

जटिल रास्तों और चार हज़ार मीटर ऊंचाई पर बर्फ़ से ढकी यह गुफाएं सीआईए का महत्वपूर्ण ठिकाना समझी जाती हैं। इन गुफाओं को आधुनिक रूप देने के लिए बिन लादेन ने अपने बेटे की कंस्ट्रेक्शन कंपनी की सेवाएं प्राप्त की थीं।

पार्सटुडे

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें