Masjid and Mazar of Prophet Younus (peace be upon him) in Musal, Iraq.

इराकी सेना ने आईएसआईएस के आतंकियों को मूसिल से भी खदेड़ा जा रहा हैं. जिसके साथ ही हज़रत यूनुस अलैहिस्सलाम का मजार आईएसआईएस के चंगुल से आजाद हो गया हैं. इसी के साथ इराकी सेना ने हां पर इराक़ का राष्ट्रीय ध्वज फहरा दिया है.

इराक़ी सेना के आतंकवाद निरोधक दल के प्रवक्ता सबाह नोमान ने कहा कि हमने हज़रत यूनुस के मज़ार से आंतंकियों को खदेड़ दिया है और वहां पर इराक़ का राष्ट्रीय ध्वज फहरा दिया गया है. उन्होंने कहा कि इराक़ी सेना सोमवार को पूर्वी मूसिल के दो अन्य क्षेत्रों पर नियंत्रण प्राप्त करने में सफल रही.

An ISIS militant is filmed taking a sledgehammer to an Iraqi tombstone – smashing it to pieces

अल्लाह के पैगम्बर हजरत यूनुस अलैहिस्सलाम के मजार को 2014 में आईएसआईएस के आतंकियों ने अपने कब्जे में ले लिया था और इसे काफी नुकसान भी पहुंचाया था. जिसके बाद दुनिया भर के मुसलमानों का काफी गुस्सा सामने आया था.

हज़रत युनुस अलैहिस्सलाम अल्लाह के पैगम्बर हैं. जिनका जिक्र क़ुरआने मजीद में भी हैं. हज़रत युनुस ने हज़ारों साल पहले इराक के नैनवा  में अपना जीवन गुजारा हैं. यहीं पर उन्होंने लोगों को सच्चा रास्ता दिखाना शुरू किया था.