नाइजीरिया ने म्यांमार में रोहिंग्या मुस्लिमों के”जातीय सफाई” की निंदा करते हुए कहा कि इस का जल्द ही अंत किया जाना चाहिए. नाइजीरिया ने सयुंक्त राष्ट्र से तत्काल दखल देने की मांग की.

नाइजीरियाई सरकार ने एक बयान में कहा, “संघीय सरकार ने मानव अधिकारों के लिए संयुक्त राष्ट्र के उच्चायुक्त द्वारा अपने कथन में अब तक रोहिंग्या लोगों की ‘जातीय सफाई का पाठ्यपुस्तक उदाहरण’ होने की वजह से हुई भयावह मानवीय दुखों की निंदा की है.”

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

सरकार ने कहा कि म्यांमार की स्थिति रवांडा और बोस्निया में हुई घटनाओं की “याद” दिलाती है- जहां 1994 और 1995 में नरसंहार किए गए थे.

नाइजीरिया ने संयुक्त राष्ट्र के सदस्य देशों से म्यांमार में रक्तपात की निंदा करने और हिंसा को खत्म करने और सैकड़ों हज़ारों रोहंग्या शरणार्थियों की शांतिपूर्ण और सुरक्षित वापसी के लिए अनुकूल परिस्थितियां पैदा करने के प्रयासों में शामिल होने के लिए अनुरोध किया.

संयुक्त राष्ट्र के अनुसार 25 अगस्त के बाद से अनुमानित 370,000 मुसलमान म्यांमार से छोड़ चुके हैं. सुरक्षा बल और बौद्ध भीड़ ने सैकड़ो रोहिंग्या पुरुषों, महिलाओं और बच्चों को मार दिया है, घरों को लूटपाट कर रोहिंग्या गांवों को आग लगा दी है. बांग्लादेश के अनुसार, लगभग 3,000 रोहिंग्या मारे गए हैं.

Loading...