उत्तरी लंदन में फिन्सबरी पार्क मस्जिद के बाहर नमाजियों पर कार के जरिए हुए आतंकी हमले के सबंध में बड़ा खुलासा हुआ है. नमाजियों की जान लेने वाले आरोपी ड्राईवर को खुद आगे रहकर मस्जिद के इमाम ने बचाया.

इस हमले में एक व्यक्ति की मौत हो गई है जबकि आठ लोग घायल हो गए थे. मुस्लिम वेलफेयर हाउस के मुख्य कार्यकारी तौफीक कासमी ने कहा, इमाम मोहम्मद महमूद के साहस ने हालात को शांत करने में मदद की तथा ड्राइवर को किसी तरह के नुकसान से बचाने का काम किया.

घटना पर मौजूद चश्मदीद खालिद अमीन ने बीबीसी को बताया, “वैन जानबूझ कर बाएं ओर मुड़ी और लोगों को कूचलने लगी. वैन के अंदर दो आदमी मौजूद थे. उनमें से एक को लोगों ने काबू कर लिया, दूसरा आदमी चिल्ला रहा था कि मैं सभी मुसलमानों को मारना चाहते हूँ. फिर वो वहां से भाग गया.”

सेवन सिस्टर रोड के पास एक फ्लैट में रहने वाली एक चश्मदीद ने बीबीसी से कहा, ”हर कोई चीख़ रहा था. हर कोई बोल रहा था कि वैन ने लोगों को टक्कर मारी है. लोग मस्जिद से नमाज़ अदा करके निकल रहे थे तभी वैन ने टक्कर मारी.”

प्रधानमंत्री टेरीज़ा मे ने कहा है कि पुलिस इसे संभावित चरमपंथी हमला मान रही थी. लंदन के मेयर सादिक़ खान ने इसे “साझा मूल्यों पर हमला” बताया है.




कोहराम न्यूज़ को लगातार चलाने में सहयोगी बनें, डोनेशन देने से पहले इस link पर क्लिक करके पढ़ें Click Here

Loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें