मलेशिया की नई सरकार ने सऊदी अरब की और से स्थापित किंग सलमान सेंटर फ़ॉर पीस (केएससीआईपी) तुरंत बंद करने का आदेश जारी किया है। बता दें इस केंद्र की स्थापना 13 महीने पहले की गई थी। हालांकि इसे बंद करने की कोई वजह नहीं बताई गई है।

रक्षा मंत्री मोहम्मद सबू ने सोमवार को कहा कि कुआलालंपुर में किंग सलमान सेंटर फॉर इंटरनेशनल पीस (केएससीआईपी) तत्काल संचालन बंद होगा और इसके कार्य मलेशियाई इंस्टीट्यूट ऑफ डिफेंस एंड सिक्योरिटी द्वारा अवशोषित हो जाएंगे।

मलेशिया के पूर्व रक्षा मंत्री हिशामुद्दीन हुसैन ने मार्च 2017 में लॉन्च होने पर केंद्र का बचाव किया और कहा कि केंद्र सशस्त्र समूहों द्वारा “हिंसक अतिवाद” के प्रसार को रोकने के लिए महत्वपूर्ण था।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

बता दें कि सऊदी अरब के राजा सलमान बिन अब्दुलअजीज अल सऊद ने केंद्र का उद्घाटन किया, जिसमें कुआलालंपुर में एक अस्थायी कार्यालय था और मलेशिया की प्रशासनिक राजधानी पुटराजया में स्थायी इमारत के निर्माण इंतजार था।

सब्बू ने संसद को यह भी बताया कि उन्होंने मलेशियाई सैनिकों को सऊदी से वापस बुलाने की योजना बनाई है। जून में, सब्बू ने सऊदी अरब में मलेशिया की सैन्य उपस्थिति की समीक्षा की घोषणा करते हुए कहा था कि यह “अप्रत्यक्ष रूप से मध्य पूर्व संघर्षों में मलेशिया की घुसपैठहै”।