hishammuddin

hishammuddin

कुआलालंपुर: इस्लाम धर्म के तीसरे सबसे पवित्र शहर अल-कुद्स यानि जेरुसलम को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा यहूदियों को सौंपे जाने की कोशिश के बाद मुस्लिम देशों ने अब सैन्य तैयारियां करना शुरू कर दिया है.

ट्रम्प के जेरुसलम को इजरायल की राजधानी के रूप में मान्यता देने और अमेरिकी दूतावास को तेलअवीव से जेरुसलम शिफ्ट करने को लेकर मलेशियाई सरकार ने ऐलान किया कि मलेशियाई सशस्त्र बल (एमएएफ) पूरी तरह से कार्रवाई के लिए तैयार है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

रक्षा मंत्री हिसमुद्दीन हुसैन ने कहा कि देश को किसी भी स्थिति का सामना करने के लिए तैयार होना चाहिए. उन्होंने कहा, रक्षा मंत्री के रूप में, मुझे विश्वास है कि हम मलेशियन सशस्त्र बलों के सर्वोच्च कमांडर, यांग दि-पर्टुआन अगोंग, सुल्तान मोहम्मद वी से किसी भी आदेश को पूरा करेंगे.

यूएमएलओ के उपाध्यक्ष हिसमुद्दीन ने कहा, सशस्त्र बलों के प्रमुख जनरल टैन श्री राजा मोहम्मद एफ़ैन्डी राजा मोहम्मद नूर और एमएएफ निश्चित रूप से तैयार हैं.

उन्होंने अमेरिका के जेरुसलम को इजरायल की राजधानी बनाने के फैसले को पूरे मुस्लिम विश्व के चेहरे पर एक थप्पड़ बताया है.

Loading...