mall

mall

केरल के मलप्पुरम में सूफी संत की कब्र को नुकसान पहुंचाने का मामला सामने आया है. इस घटना के पीछे कट्टरपंथी सलफियों का हाथ बताया जा रहा है.

डेक्कन क्रॉनिकल की खबर के अनुसार वाजिक्कद्वीव के पास नदुकानी में शुक्रवार की सुबह कब्र को नारियल के वृक्ष की रोपाई के साथ नष्ट किया गया. पिछले चार हफ्तों के दौरान कब्र पर यह तीसरा हमला है. पुलिस ने इस मामले में जांच शुरू कर दी है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

एडक्करा इंस्पेक्टर पी. अब्दुल बशीर ने कहा कि प्रारंभिक जांच के दौरान मौके से एकत्रित प्रमाण इस बात की और इशारा कर रहे कि इस पुरे मामले के पीछे  सलाफी अनुयायियों का हाथ हो सकता है.

मामले की गंभीरता को देखते हुए आगे की जांच के लिए पेरिथमलाण्णा डीआईएसपी एम.पी. मोहनचंद्रन की अगुवाई में एक विशेष जांच दल का गठन किया गया है. टीम में स्पेशल ब्रांच के डीआईएसपी उल्लास कुमार और वाझिकदाबाद उप-निरीक्षक अभिलाषा इसके अलावा एडक्करा के निरीक्षक मिस्टर बशीर शामिल हैं.

ताजा हमले में सुन्नी इस्लामिक परंपराओं का पालन करने वाले प्रमुख सुन्नी संगठनों से बहुत गुस्सा है. केरल मुस्लिम जमात और सुन्नी युवजना संगम ने मुख्यमंत्री पीनाराय विजयन से संपर्क किया है ताकि दुर्व्यवहारियों के खिलाफ मजबूत कार्रवाई की जा सके.

सुन्नी युवजना संगम के राज्य सचिव हमीद फैजी अंबलालकद्वाव ने कहा कि मुख्यमंत्री ने इस घटना पर अधिकारियों से रिपोर्ट मांगी है. इस बीच इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग ने कब्र के हमले से खुद को दूर करते हुए कहा कि कब्र का कोई धार्मिक महत्व नहीं है.

आईयूएमएल के महासचिव के.पी.ए. माजिद ने कहा, हमारे पास कब्र पर हमले के बारे में कोई जानकारी नहीं है पार्टी इसे ठीक से जांच के बिना जवाब नहीं दे सकती है और कब्र एक धार्मिक जगह नहीं है.

Loading...