तुर्की के राष्ट्रपति ने सोमवार को नए संविधान बनाने पर ज़ोर दिया था। जिसके लिए उन्हे अब देश की प्रमुख नेशनल मूवमेंट पार्टी का साथ मिल गया है।

नेशनल मूवमेंट पार्टी के प्रमुख नेता डेवले बाहकेली ने एक लिखित बयान में कहा कि तुर्की अपने वर्तमान संविधान को बदलने के लिए “बाध्य” है।

बता दें कि संसदीय वोटों और चुनावों में, नेशनलिस्ट मूवमेंट पार्टी (एमएचपी) जून 2018 के आम चुनावों से पहले गठित पीपुल्स अलायंस के तहत सत्तारूढ़ एर्दोगान की एके पार्टी के साथ प्रमुख सहयोगी है।

बता दें कि एर्दोवान ने राष्ट्रपति परिसर में कैबिनेट की बैठक के बाद कहा तुर्की की सत्तारूढ़ न्याय और विकास (एके)यदि पीपुल्स एलायंस में अपने साथी के साथ आम सहमति तक पहुंचती है, तो आगामी अवधि में एक नया संविधान तैयार करने के लिए कार्रवाई” संभव है।

उन्होने कहा, संवैधानिक कार्यों को पारदर्शी तरीके से किया जाना चाहिए। एर्दोआन ने कहा कि राष्ट्र के विवेक के लिए अंतिम पाठ प्रस्तुत किया जाना चाहिए।