Tuesday, June 22, 2021

 

 

 

श्रीलंका में मुस्लिमों के जबरन दाह संस्कार के खिलाफ लंदन में हुआ प्रदर्शन

- Advertisement -
- Advertisement -

ब्रिटेन में रह रहे 400 श्रीलंकाई मुसलमान और उनके समर्थकों ने आज कोरोना की बीमारी से मारे जाने वाले मुस्लिमों और ईसाइयो के शवों के जबरन दाह संस्कार के खिलाफ श्रीलंकाई उच्चआयोग के सामने प्रदर्शन किया।

सोशल डिस्टेन्सिंग को बनाए रखने के लिए प्रदर्शन में एक समय सौ कर-कर 400 प्रदर्शनकारी शामिल हुए। विरोध के समर्थन में दक्षिण एशिया सॉलिडैरिटी ग्रुप का संदेश आयोजकों में से एक, बजीर रहमान द्वारा प्रदर्शन पर पढ़ा गया।

उन्होने कहा, “हम दक्षिण एशिया सॉलिडैरिटी ग्रुप श्रीलंका के मुस्लिम, ईसाई और कैथोलिक समुदायों के साथ एकजुटता से खड़े हैं, जो वर्तमान में श्रीलंकाई सरकार द्वारा रखी गई पूरी तरह से अमानवीय और मनमानी नीति का सामना कर रहे हैं, जो कि लोगों के अनिवार्य दफन को रोकती है। माना जाता है जिनकी COVID 19 संक्रमणों से मृत्यु हो गई। नीति में परिवर्तन किसी भी पारदर्शिता या विश्वसनीय वैज्ञानिक औचित्य के बिना अचानक और तैनात किया गया।

किसी प्रियजन की मृत्युमहामारी के इन समयों के दौरान, चाहे वह COVID द्वारा हो या अन्यथा, अब अल्पसंख्यक समुदायों से संबंधित लोगों के दिलों में डर पैदा करना शुरू कर दिया है। अपने प्रियजनों के लिए शोक एक भयावह राजनीतिक मुद्दा बन गया है, जो मुसलमानों और ईसाइयों के बीच बहुत दर्द और गुस्सा पैदा करता है।

दरअसल दाह संस्कार में प्रशासन मनमानी कर रहा है। शवों के पास परिजनों को नहीं जाने दिया जा रहा। परिजनों की अनुमति के बिना दाह संस्कार किया जा रहा। कई ऐसे भी शव है जो कोरोना से पीड़ित नहीं थे। लेकिन उनको भी कोरोना पॉज़िटिव बताकर दाह संस्कार कर दिया गया। ऐसे में मुस्लिमों में काफी गुस्सा देखने को मिल रहा है। दरअसल, यह नीति चरमपंथी सिंहला बौद्ध मत का समर्थन करने के लिए की जा रही है जो पहले से ही मुस्लिमों को निशाना बना रहा था।

हमें बताया गया है कि इस उद्देश्य के लिए सरकार द्वारा गठित विशेषज्ञ समिति ने नीति में इस बदलाव की सिफारिश की है। लेकिन इस समिति की सार्वजनिक रूप से देश के प्रमुख महामारी विज्ञानियों और वायरोलॉजिस्टों द्वारा आलोचना की गई है, जिन्हें विशेषज्ञों की समिति में बैठने के लिए आमंत्रित नहीं किया गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles