saudi-arabia

पश्चिमी मीडिया की नज़र में जहाँ मुस्लिम देशों के कानून की निंदा की जाती है और महिलाओं के अधिकारों की बात की जाती है वहीँ सऊदी अरब जैसे अरेबियन देशों में महिलाओं पर होने वाली हिंसा की दर पश्चिमी देशों के मुकाबले बहुत कम है, जिसका कारण है महिलाओ के खिलाफ होने वाली हिंसा को लेकर कठोर कानून. जहाँ कुछ मुल्कों में महिला को अपने बलात्कार को खुद साबित करना होता है वहीँ सऊदी अरब में एक ऐसी घटना घटी है जो तमाम दुनिया के लिए एक उदाहरण बन सकती है.

मदीना की अपराधीक अदालत ने एक ड्राइवर को मौत की सज़ा सुनाई हैं. सऊदी अरब में इस चालक पर आरोप था कि उसने एक महिला को सेड्यूस किया था और उसकी तस्वीरे ली थी ताकि उसको ब्लैकमेल कर सके, जिसको दोषी पाए जाने पर मदीना की आपराधिक अदालत ने उसे मौत की सज़ा सुना दी हैं.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इससे पहले अदालत ने उसको पांच साल की सज़ा देने का फैसला किया था, लेकिन बाद में मदीना की विशेष आपराधिक अदालत ने उसको दोषी पाए जाने पर मौत की सज़ा सुना दी. बताया जा रहा है कि अपराधी महिला अध्यापको को उनके रेसिडेंट्स से स्कूल ले जाया करता था.

विक्टिम महिला अपने घर सबसे आखिरी में पहुंची, जहाँ उसके अपर्टमेंन्ट में पहुचंह कर उस ड्राइवर ने ब्लैकमेल करने के लिए उसकी तस्वीरे लेने से पहले उसका यौन उत्पीड़न किया.

जिसके बाद ड्राइवर ने महिला से पैसे मांगना शुरू कर दिया, और ना देने पर उसको धमकी भी दी कि वो उसकी तस्वीरे सार्वजनिक कर देगा. महिला ने ड्राइवर के ख़िलाफ़ 15 सबूत पेश किये हैं.

इससे पहले आपराधिक अदालत ने ड्राइवर को पांच साल की कैद और 1000 सऊदी रियाल जुरमाना लगाया था, लेकिन बाद में मदीना की आपराधिक अदालत ने इसको मौत की सज़ा दी.

Web-Title: Saudi court announced death verdict for a driver who was sexually assault a women

Key-Words: Saudi Arab, Driver, Death Sentenced, Women, Sexually Assault, World Hindi news, Saudi Arabia Hindi news, Arab Hindi News

Loading...