अमेरिका ‘रिवोल्यूशनरी गार्ड्स’ को घोषित करेगा आतंकी संगठन, ईरान ने भी किया करारा पलटवार

इजरायल में चुनाव के चलते अमेरिका ईरान पर के रेवॉल्यूशनरी गार्ड्स को आतंकवादी संगठन घोषित करने जा रहा है।’द वॉल स्ट्रीट जर्नल’ में के मुताबिक, ट्रंप प्रशासन इस निर्णय के संबंध में सोमवार को घोषणा करेगा। हालांकि व्हाइट हाउस नेशनल सिक्योरिटी काउंसिल के एक प्रवक्ता ने इस पर बयान देने से इनकार कर दिया। अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने भी इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है।

ईरान ने इस पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि अगर अमेरिका उसके रिवोल्यूशनरी गार्ड्स को विदेश आतंकवादी संगठन घोषित करता है तो वह भी अमेरिकी सेना को आतंकी संगठनों की सूची में डाल देगा। ईरानी संसद की राष्ट्रीय सुरक्षा समिति के अध्यक्ष हशमतउल्ला ने कहा कि अगर अमेरिका ने ऐसा किया तो हम भी उसकी सेना को आतंकियों की सूची में डालने से पीछे नहीं हटेंगे।

पिछले साल अमेरिका की राष्ट्रीय खुफिया एजेंसी के निदेशक डैन कोट्स ने रिवोल्यूशनरी गार्ड्स को एक विदेशी आतंकवादी संगठन के तौर पर चिह्नित करने को लेकर आगाह किया था। उन्होंने कहा था कि ऐसा करने से अमेरिकी सेनाओं के लिए खतरा बढ़ सकता है।

donald trump reuters 1

रेवॉल्यूशनरी गार्ड्स ईरान के आर्म्ड फोर्स का हिस्सा है। इस्लामिक रेवॉल्यूशनरी गार्ड्स कॉर्प का गठन 1979 इस्लामी क्रांति के बाद किया गया था। देश की पारंपरिक सैन्य इकाइयां सीमाओं की रक्षा करती हैं जबकि इसके विपरीत रेवॉल्यूशनरी गार्ड्स देश में इस्लामी गणतंत्र प्रणाली की रक्षा करता है। ईरानी सैन्य बलों की इस यूनिट को सऊदी अरब और बहरीन पहले ही आतंकवादी संगठन घोषित कर चुके हैं।

रक्षा अधिकारियों ने कहा है कि सीरिया और इराक में तैनात अमरीकी सैनिकों की आईआरजीसी के सदस्यों से अक्सर मुठभेड़ हुई है।

विज्ञापन