संयुक्त अरब अमीरात के विदेश मंत्री अब्दुल्लाह बिन ज़ाएद आले नहयान द्वारा उस्मानिया सल्तनत के तहत मदीना के गवर्नर रहे फ़ख़रुद्दीन पाशा को चोर बताए जाने पर तुर्की राष्ट्रपति रजब तैय्यब एर्दोगान भड़क उठे है.

एर्दोगान ने इशारों में कुछ अरब देशों के नेताओं को चेतावनी देते हुए कहा कि  उनके देश से कुछ अरब राष्ट्राध्यक्षों की दुश्मनी का कारण अपनी अक्षमता, विश्वासघात और नासमझी को छिपाना है लेकिन हम उचित समय पर उनकी दुश्मनी का जवाब देंगे.

अमीराती मंत्री को जवाब देते हुए उन्होंने कहा, कुछ लोग अज्ञानता के कारण तुर्की के इतिहास की इस महान हस्ती का अनादर कर रहे हैं जिसने बड़ी बहादुरी से मदीना नगर की हिफाजत की थी. उन्होंने कहा कि तारीख गवाह है कि उसमान पाशा ने वर्ष 1916 से 1919 के बीच मदीने पर शासन किया और अतिग्रहणकारियों के मुक़ाबले में इस शहर के ख़ज़ानों की हिफाजत की.

ध्यान रहे अमीरात के विदेश मंत्री अब्दुल्लाह बिन ज़ाएद ने अपने एक ट्वीट में कहा था कि उसमानी शासक फ़ख़रुद्दीन पाशा ने इस्लामी व अरब क्षेत्रों पर अपने शासन के काल में मदीना नगर के ख़ज़ानों को इस्तंबोल पहुंचा दिया था.

एर्दोगान ने कहा, उसमानी शासक मदीना से ख़ज़ाने नहीं लाए थे बल्कि उन्होंने प्रथम विश्व युद्ध में मदीना को अतिग्रहणकारियों के चंगुल से मुक्त कराया था. उन्होंने कहा, हम अच्छी तरह से जानते हैं कि आज कौन किसके साथ सहयोग कर रहा है और हम उचित समय पर इस बारे में भी बात करेंगे.

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano