saad

saad

सऊदी विदेश मंत्री अदेल अल जुबेर ने गुरुवार को लेबनान के राष्ट्रपति के हालिया दावों को खारिज करते हुए कहा कि हरिरी सऊदी अरब को छोड़ सकते है.

अल जुबेर ने लेबनानी राष्ट्रपति मिशेल ऑन के आरोपों पर कहा, ये आरोप बेबुनियाद हैं. विशेष रूप से इस तथ्य को देखते हुए कि हरीरी सऊदी अरब के एक सहयोगी है. हालांकि इसी के साथ ये भी  खबर है कि साद हरीरी अब सऊदी छोड़ फ्रांस जा सकते है.

बुधवार को फ़्रांसिसी राष्ट्रपति एम्मनुअल मैक्रॉन ने हरिरी को फ्रांसीसी राजधानी में अपने परिवार के साथ कुछ दिनों के लिए आने के लिए आमंत्रित किया. इस आमंत्रण को हरीरी ने स्वीकार कर लिया.

ध्यान रहे लेबनान के राष्ट्रपति ने सऊदी अरब पर हरीरी को बंधक बनाकर उनके देश के खिलाफ युद्ध की घोषणा करने का आरोप लगाया था. उन्होंने कहा, 12 दिन से हरीरी को बंधक बनाकर रखने को किसी तरह से भी सही नहीं ठहराया जा सकता. यह अंतरराष्ट्रीय क़ानूनों का खुला उल्लंघन है.

हालांकि गलवार को हरीरी ने ट्वीट करके कहा था कि वह पूर्ण रूप से स्वस्थ हैं और कुछ ही दिन बाद लेबनान को वापस लौट जायेंगे, लेकिन उनका परिवार सऊदी अरब में ही ठहरेगा.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?