लेबनान के पूर्व राष्ट्रपति एमिल लहूद ने एक बयान में अमेरिका को ‘आतंकवाद का समर्थक’ बताया हैं. सोमवार को जारी एक बयान में उन्होंने कहा अमेरिकी सेना उस सेना पर हमला करती है जो आतंकवादी गुट विशेषकर आईएस से मुकाबला करती है.

उन्होंने आगे कहा कि सीरिया के दैरूज़्ज़ूर क्षेत्र में एक सैनिक ठिकाने पर अमेरिकी युद्धक विमानों का हमला इउस वक्त किया गया जब वाशिंग्टन इन आतंकवादी गुटों का समर्थन न कर सका. जिसमे अमेरिका को सीधे हस्तक्षेप की आवश्यकता थी.

पूर्व राष्ट्रपति कहा कि सीरिया पर इस्राईल के अतिक्रमण के कई दिन के बाद अमेरिका का सीरिया पर हमला हुआ है. उन्होंने कहा कि यह मामला अमेरिका, जायोनी शासन और उनके घटक देशों द्वारा आतंकवादी गुट दाइश के समर्थन का सूचक है.

गौरतलब रहें कि अमेरिकी युद्धक विमानों के हमलें में शनिवार की रात को दैरूज़्ज़ूर में हवाई अड्डे और सीरियाई सैनिक ठिकाने पर 62 सीरियाई सैनिकों की मौत हो गई थी.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?