saad

saad

प्रधानमंत्री साद हरीरी के इस्तीफे के बाद सऊदी अरब और लेबनान के रिश्तों ने मध्य-पूर्व में एक नया संकट पैदा कर दिया है. जो एक नई जंग की और इशारा कर रहा है.

इसी बीच अब लेबनान के राष्ट्रपति मिशेल आउन ने प्रधानमंत्री साद अल हरीरी के स्वदेश नहीं लौटने पर सऊदी अरब से स्पष्टीकरण मांगा है. साथ ही हरीरी को अगवा करने का भी आरोप लगाया है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

आउन ने विदेशी राजनयिकों के समक्ष हरीरी से जुड़ा मुद्दा उठाते हुए कहा कि सऊदी अरब ने अगवा किया गया है. ऐसे में सऊदी अरब से उन्हें छुटकारा मिलना चाहिए.

ध्यान रहे 4 नवंबर को लेबनान के प्रधानमंत्री साद अल-हरीरी ने सऊदी की राजधानी रियाद में टेलीविजन के जरिए अपने पद से इस्तीफे की घोषणा की थी. साथ ही उन्होंने अपनी जान को भी खतरा बताया था.

इस्तीफा देने के बाद से ही साद अल-हरीरी लेबनान नहीं पहुंचे है. लेबनान सरकार ने उनके इस्तीफे को भी नामंजूर कर दिया और कहा कि ये इस्तीफा सऊदी अरब के दबाव में दिया गया.