पाकिस्तान के सिंध प्रांत में मशहूर सूफ़ी संत लाल शाहबाज़ कलंदर की दरगाह पर हमले के बाद पाकिस्तानी सुरक्षा बलों ने आतंकियों के खिलाफ कारवाई करते हुए शुक्रवार को 100 से अधिक आतंकवादियों को मार गिराया.

पाकिस्तान सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ़ गफ़ूर ने कहा कि पंजाब प्रांत समेत देश भर में कार्रवाई में 24 घंटों के भीतर 100 चरमपंथियों को मारा गया है और कई संदिग्धों को गिरफ़्तार किया गया है. बयान में यह स्पष्ट नहीं किया गया है कि आतंकवादी कहां मारे गए अथवा कहां से गिरफ्तार किए गए.

याद रहें कि दरगाह पर हुए आत्मघाती हमले में 88 लोगों की मौत हो गई थी और करीब 250 लोग घायल हो गए थे. इसकी जिम्मेदारी चरमपंथी संगठन इस्लामिक स्टेट ने ली थी. सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा ने लोगों को विश्वास दिलाया कि ‘दुश्मनी के एजेंडा को सफल नहीं होने दिया जाएगा, चाहे इसके लिए कोई भी कीमत चुकानी पड़े.’

इसी के साथ पाकिस्तान ने अफ़ग़ानिस्तान सीमा से जुड़े सभी मार्गों को बंद किया है. इसके अलावा पाकिस्तान सरकार ने अफ़ग़ानिस्तान के दूतावास से अधिकारियों को तलब कर विरोध दर्ज कराया है कि चरमपंथी पाकिस्तान में हमलों के लिए अफ़गानिस्तान की ज़मीन का इस्तेमाल कर रहे हैं.

पाकिस्तानी अधिकारियों ने अफ़ग़ानिस्तान को 76 मोस्ट वॉन्टेड चरमपंथियों की सूची सौंपी है जिन्होंने अफ़ग़ानिस्तान में शरण ली है. अधिकारियों ने बताया कि आगामी दिनों में कार्रवाई और तेज कर दी जाएगी क्योंकि सरकार ने आतंकवाद का सफाया करने का संकल्प लिया है.

प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की अध्यक्षता वाली एक उच्च स्तरीय बैठक में इस सप्ताह इस बात पर सहमति जताई गई कि राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरा पैदा करने वाले आतंकवादियों को ‘मिटा दिया’ जाना चाहिए. वहीं हमले के बाद भी शुक्रवार को सेहवन में लाल शहबाज़ कलंदर की दरगाह पर ज़ायरीनों का आना जारी रहा.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें