dgdf

रियाद | सऊदी अरब अपने कड़े कानून के लिए जाना जाता है. यहाँ महिलाओं के ऊपर कई तरह की पाबंदिया लगायी गयी है. हालंकि कई वर्षो के आन्दोलन के बाद महिलाओ को कई क्षेत्रो में छूट दी गयी है. सऊदी अरब में अब महिलाये चुनाव लड़ने और गाडी चलाने की छूट दे दी गयी है. लेकिन अभी भी कुछ ऐसे क्षेत्र है जहाँ महिलाओ को शरिया कानून के तहत ही जीवन यापन करना पड़ता है.

अंग्रेजी अख़बार टाइम्स ऑफ़ इंडिया में छपी खबर के अनुसार , सऊदी अरब की राजधानी रियाद में एक महिला को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. महिला पर आरोप है की उन्होंने बिना बुर्का पहने फोटो खींच उसको ट्वीटर पर पोस्ट कर दिया . फ़िलहाल महिला को जेल भेज दिया गया है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

रियाद पुलिस के प्रवक्ता फवाज अल मेमन के अनुसार महिला ने यहाँ के पोपुलर कैफ़े के बाहर बिना बुर्के के फोटो शूट किया और फिर इसको ट्वीटर पर पोस्ट कर दिया. इस महिला की उम्र 20 से 30 साल के बीच बतायी जा रही है. हालांकि पुलिस ने महिला का नाम उजागर नही किया है लेकिन कुछ वेबसाइट ने महिला का नाम मलक-अल-शहरी बताया है,

मलक पर किसी गैर युवक के साथ सम्बन्ध रखने के भी आरोप है. मलक ने जैसे ही अपनी फोटो को ट्वीटर पर पोस्ट किया , सोशल मीडिया पर उनकी आलोचना करने वालो की बाढ़ सी आ गयी. रियाद पुलिस ने बताया की सऊदी अरब में इसे अपराध की श्रेणी में रखा गया है. यहाँ महिलाओ को घर से बाहर निकलने पर खुद को सर से पैर तक ढकना अनिवार्य होता है. इसके अलावा भी महिलाओ के ऊपर कई तरह की बंदिशे लगाई गयी है.

Loading...