अरब देशों और ईरान के बीच बातचीत पर कुवैत का जोर, कहा – इजराइल को नहीं मिलना चाहिए कोई मौका

पुरे मध्य-पूर्व क्षेत्र में शांति, सुरक्षा व स्थिरता को लेकर कुवैत ने ईरान और अरब देशों के बीच बातचीत कर सुलह-समझोते पर जोर दिया हैं.

कुवैत के शासक शैख़ सबाह अलअहमद अलजाबिर अस्सबाह ने बुधवार को जाॅर्डन में अरब संघ के 28वें शिखर सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि देशों की संप्रभुता का सम्मान और पड़ोसियों के साथ अच्छे संबंधों का पालन, क्षेत्र में स्थिरता बनाने के लिए अरब देशों और ईरान के बीच सकारात्मक बातचीत का रास्ता खोल सकता हैं.

उन्होंने इजराइल को क्षेत्र में शांति और अंतर्राष्ट्रीय क़ानूनों को लागू करने में सबसे बड़ी रुकावट करार देते हुए कहा कि जो लोग अरब जगत की सुरक्षा के लिए ख़तरा बने हुए हैं उन्हें कोई मौका नहीं देना चाहिए.

शैख़ जाबिर अस्सबाह ने अरब देशों के बीच एकता को मजबूत करने के साथ ही वर्तमान संकटों के शांति पूर्वक समाधान की बात कही. साथ ही उन्होंने कहा कि अरब देशों में जो मतभेद व्याप्त हैं उनके कारण अरब देशों की एकता में फूट पड़ रही है.

सीरिया संकट को लेकर उन्होंने कहा, विश्व समुदाय सीरिया संकट के समाधान में असफल रहा. जिसके कारण शरणार्थियों की स्थिति पहले से और ज्यादा खराब हो गई.

विज्ञापन