इस्लाम और पैगंबर मुहम्मद (सल्ल) के अपमान को लेकर कुवैत ने फ्रांसीसी वस्तुओं के बजाय तुर्की उत्पादों को खरीदने के लिए एक अभियान शुरू किया है। जिससे फ्रांस के बड़े आर्थिक नुकसान की संभावना है।

कुवैत में सोशल मीडिया पर ग्राहकों को फ्रांसीसी सामानों के बदले तुर्की के उत्पादों को खरीदने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए हैशटैग लॉन्च किया। यूजर ने ग्राहकों के बहिष्कार के लिए फ्रांसीसी वस्तुओं की तस्वीरें भी पोस्ट कीं।

सोशल मीडिया यूजर के अनुसार, उनके इस अभियान को जमीनी स्तर पर समर्थन भी मिल रहा है। कुवैत में मुख्य दुकानों ने बहिष्कार अभियान का जवाब दिया और अलमारियों से फ्रांसीसी उत्पादों को हटा दिया।

हालांकि, कुवैत के अधिकारियों द्वारा फ्रांसीसी उत्पादों का बहिष्कार करने के लिए कोई आधिकारिक कदम नहीं उठाया गया। रविवार को, कुवैती के विदेश मंत्री शेख अहमद अल नासिर अल सबाह ने फ्रांसीसी राजदूत के साथ मुलाकात की और सभी एकेश्वरवादी धर्मों और नबियों के खिलाफ सभी अपराधों पर रोक लगाने का आह्वान किया।

2 अक्टूबर को, फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रॉन ने फ्रांस में “इस्लामिक अलगाववाद” से निपटने के लिए एक विवादास्पद योजना की घोषणा की, जिसमें दावा किया गया कि दुनिया भर में इस्लाम का विश्वास “संकट” में है और फ्रांस में “इस्लाम को विदेशी मुक्त” करने का वादा किया गया है।

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano