पाकिस्तान में आतंक के आरोप में जेल में बंद भारतीय कुलभूषण जाधव को पाकिस्तान की खुफिया संस्था आईएसआई ने अगवा कराया था.

बलूच कार्यकर्ता मामा कदीर ने दावा करते हुए कहा कि पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी इंटर सर्विसेज इंटेलीजेंस (आईएसआई) जाधव को ईरान के चाबहार से अगवा कराया था. इसके लिए आईएसआई और मुल्ला उमर के बीच करोड़ों की डील हुई थी.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

वॉइस फॉर मिसिंग बलूच्स के उपाध्यक्ष कदीर ने कहा, “हमारे संयोजक वहां मौजूद थे. जाधव का अपहरण करने के लिए आईएसआई की ओर से मुल्ला उमर को करोड़ों रुपये दिए गए थे.

उन्होंने बताया कि जाधव के दोनों हाथ बांध दिए गए थे. उनकी आंखों पर पट्टी बांध दी गई थी और उन्हें डबल डोर की एक कार में बैठाकर ले जाया गया था. उन्होंने कहा, जाधव को पहले चाहबहार से ईरान और बलूचिस्तान सीमा स्थित शहर मशकेल ले जाया गया, जहां से उनको बलूचिस्तान की राजधानी क्वेटा लाया गया और वहां से इस्मालाबाद.

कदीर ने कहा, “हम जानते थे कि कुलभूषण जाधव ईरान में एक व्यवसायी थे. आईएसआई ने घोषणा की थी कि उन्होंने बलूचिस्तान में जाधव को पकड़ा है. दरअसल, जाधव कभी बलूचिस्तान आए ही नहीं थे.”

Loading...