कोलकाता के दक्षिणी हिस्से मटियाबुर्ज के आलमपुर में एक मंदिर में बीफ फेंके जाने का मामला सामने आया हैं. ये मामला 23 जनवरी का हैं. जिसके बाद इलाके में तनाव व्याप्त हैं. राज्य सरकार की और से इसके लिए इशारों में भारतीय जनता पार्टी को जिम्मेदार बताया गया हैं.

राज्य सरकार ने अपने बयान में भाजपा का नाम लिए बगैर कहा कि एक राजनीतिक पार्टी के कार्यकर्ता राज्य में सांप्रदायिक हिंसा फैलाने के लिए इस तरह की घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं. इस बारें में राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि, बंगाल में अराजकता को अनुमति नहीं दी जाएगी. उन्होंने कहा कि ऐसे मामलों में पुलिस सख्ती के साथ निबटेगी. हम इस तरह की घटनाओं के ख़िलाफ़ एक मज़बूत कानून लायेंगे. उन्होंने भाजपा का नाम लिए बगैर कहा कि एक राजनीतिक पार्टी के कार्यकर्ता राज्य में हिंसा फ़ैलाने की कोशिश कर रहे हैं.

वहीँ घटना के घटित होने के बाद से ही भगवा कार्यकर्ताओं ने इलाकें में उत्पात मचाना शुरू कर दिया. जिसके बाद इलाकें में कर्फ्यू लगा हैं. याद रहें कि गार्डन रीच शिप बिल्डर्स एंड इंजीनियर्स वाला ये इलाक़ा एक मुस्लिम बहुल इलाक़ा है. इस घटना के बाद प्रदेश भाजपा सचिव सायंतन बसु ने कहा कि राज्य सरकार राज्य के विभिन्न हिस्सों में हो रही सांप्रदायिक घटनाओं को रोकने में नाकाम है.

वहीँ भाजपा ने राज्यपाल केशरी नाथ त्रिपाठी से कहा था कि राज्य  सरकार राज्य में कानून और व्यवस्था बनाये रखने  में नाकाम हो रही है. उन्होंने इस मामले में केंद्र से हस्तक्षेप की मांग की थी.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें