zeid

zeid

संयुक्त राष्ट्र के मानवाधिकार प्रमुख ने शुक्रवार को कहा कि संभवतः पूर्वी घॉटा और सीरिया में अन्य जगहों पर युद्ध अपराध और मानवता के खिलाफ अपराध किए गए हैं और उन्हें अंतरराष्ट्रीय अपराध न्यायालय में भेजा जाना चाहिए.

जिनेवा में संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद के 37 वें सत्र में संयुक्त राष्ट्र के उच्चायुक्त जेद राद अल हुसैन ने कहा कि पूर्वी घौटा में और सीरिया कई अन्य स्थानों पर युद्ध अपराधों और मानवता के खिलाफ अपराध किये जा रहे हैं.उन्होंने कहा, नागरिकों को मारा जा रहा है. इन अपराधियों के अपराधियों को पता होना चाहिए कि उनकी पहचान हो गई है, उनके खिलाफ मुकदमे के दस्तावेज तैयार हो गए है. जिनमे उन्हें उनके द्वारा किए गए कार्यों के लिए जवाबदेह बनाया जाएगा.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

संयुक्त राष्ट्र के अधिकारों के प्रमुख ने कहा कि रूस द्वारा चिकित्सा और मानवीय सहायता की अनुमति देने के लिए पांच घंटे के विराम के बावजूद भी हवाई हमलों और जमीन आधारित हमलों में जारी रहेगी. इसके अलावा, मानवीय एजेंसियों ने स्पष्ट कर दिया है कि पांच-पांचों घंटो में सहायता देना नामुमकिन है क्योंकि चौकियों से बस पास करने में ही एक दिन तक लग सकता है.”

उन्होंने कहा, “सीरिया को अंतर्राष्ट्रीय अपराध न्यायालय में भेजा जाना चाहिए/ न्याय को विफल करने और इन अपराधियों को बचाने के प्रयास निराशजनक हैं.” कौंसिल में यू.एस. प्रतिनिधि, थियोडोर एलेग्रा ने बशर अल-असद शासन द्वारा “क्रूर” हमलों की निंदा की.

थियोडोर एलेग्रा ने कहा, अपनी ही आबादी पर सरकार के हमलों की क्रूरता का वर्णन करने के लिए पर्याप्त शब्द नहीं हैं. स्थिति का डरावनी हालत अंग्रेजी भाषा की क्षमता को भी पार कर गई है. उन्होंने कहा, “असद शासन और उसके रूसी समर्थक के हवाई हमले जारी हैं – हवाई हमले जो निर्दोष लोगों मृत्यु हुई हैं. उनमे महिलाओं और बच्चों की संख्या अधिक है. जो नागरिक बुनियादी ढांचे के अधिक विनाश का कारण बना है.

Loading...