yemm

मीडिया की रिपोर्ट से पता चलता है कि यमन के दक्षिणी क्षेत्र में अमीरात और सऊदी अरब ने कई गुप्त जेलें बना रखी हैं, जिनमें विरोधियों को रखा जाता है, और वहां उनपर भयानक अत्याचार किए जाते हैं

इस संबंध में अमरीकी कांग्रेस ने यमन के दक्षिण में अमीराती और उसके सहयोगियों की जेलों में बंद कैदियों से पूछताछ में अमरीका की भूमिका के बारे में तहकीकात किए जाने की मांग की है।

अमरीकी कांग्रेस जो कि अपनी तहकीकात शुरू करना चाहती है, उसने संभावना व्यक्त की है कि दक्षिणी यमन में अमीरात और उसके सहयोगियों की गुप्त जों में पूछताछ और यातनाओं में संभवता अमरीका के सैन्य अधिकारी या खुफिया विभाग के अधिकारी शामिल हैं।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इससे पहले एसिसिओटेड प्रेस ने भी इस रहस्य से पर्दा उठाया था कि यमन के दक्षिण में अमरीका और उसके सहयोगियों की 18 गुप्त जेलें हैं जहां कैदियों पर भयानक अत्याचार किए जा रहे हैं।

जहां एक तरफ़ अमरीका दूसरे देशों पर आतंकवाद के समर्थन का आरोप लगाता है, लेकिन जनता का मानना है कि सरकारी आतंकवाद का सबसे बड़ा समर्थक दुनिया में अमरीका है।

Loading...