सऊदी अरब के किंग सलमान बिन अब्दुलअजीज अल सऊद जल्द ही मालदीव का दौरा करने वाले हैं. ऐसे में उनके दौरे को लेकर खबर हैं कि वे मालदीव से एक आइलैंड खरीदेंगे. मालदीव के इस फैसले से भारत की सुरक्षा के सामने भी नई चुनौती खड़ी हो सकती है.

टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक, मालदीव की विपक्षी पार्टी मालदीवियन डेमोक्रेटिक पार्टी (एमडीपी) के सदस्यों ने बताया कि 26 द्वीपों में से एक फाफू द्वीप को सऊदी अरब को बेचा जा रहा हैं. मालदीव के इस फैसले से देश में वहाबीइज्म की विचारधारा को बढ़ावा मिलेगा.

मालदीव में पहले विदेशियों को जमीन बेचने की अनुमति नहीं थी, लेकिन 2015 में संविधान में संशोधन कर सरकार ने इसकी अनुमति दे दी. एमडीपी के सदस्य और पूर्व विदेश मंत्री ने कहा कि सरकार लोगों की सहमति लेने के लिए बिलकुल परेशान नजर नहीं आ रही.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

एमडीपी ने आरोप लगाया है कि राष्ट्रपति अब्दुल्ला यमीन सऊदी अरब से इस्लामिक शिक्षक लाना चाहते हैं जिससे स्कूलों मदरसों में बदल जाएंगे.

Loading...