Sunday, August 1, 2021

 

 

 

फिलिस्तीन के मामले में खमेनेई ने अरब मुल्कों को सुनाई खरी-खरी

- Advertisement -
- Advertisement -

शुक्रवार को ईरान के सर्वोच्च नेता अयातुल्ला अली खामेनेई ने इजरायल के कब्जे को मध्य पूर्व क्षेत्र प “कैंसर के ट्यूमर” के रूप में वर्णित किया।

Quds Day के मौके पर उन्होने कहा, “ज़ायोनी शासन क्षेत्र में एक घातक, कैंसरग्रस्त ट्यूमर है। यह निस्संदेह उखाड़ कर नष्ट कर दिया जाएगा। ” खामेनेई ने घोषणा की कि इजरायल पश्चिम द्वारा बनाया गया था, जिसने यहूदी राष्ट्रों की स्थापना के लिए यहूदी वादियों के साथ साजिश रची थी।

उन्होने कहा, “पश्चिमी और यहूदी कंपनियों के मालिकों का मुख्य लक्ष्य ज़ायोनी शासन को गढ़ना और  कैंसर को प्रभावित करने और उस पर हावी होने के लिए एक मजबूत ट्यूमर का निर्माण करना था।” उन्होंने फर्जी तरीके से सभी प्रकार के सैन्य और गैर-सैन्य उपकरणों के साथ शासन पर कब्जा कर लिया।”

उन्होंने यह भी बताया: “इजरायल के विनाशकारी निर्माण के मुख्य एजेंट पश्चिमी सरकारें हैं… ब्रिटेन ने अपनी भूमिका निभाने के लिए ज़ायनिज़्म नामक एक निर्माण तैयार किया। WWII के बाद, उन्होंने क्षेत्रों के राज्यों की समस्याओं का दुरुपयोग किया और फर्जी शासन, राष्ट्रविहीन ज़ायोनी राज्य घोषित किया।

समाचार एजेंसी एएफ़पी के अनुसार ख़ामेनेई ने इस मौके पर कहा, फ़लस्तीन की आज़ादी हमारी इस्लामी ज़िम्मेदारी है।इस संघर्ष का मक़सद पूरे फ़लस्तीनी इलाक़े की आज़ादी है और फ़लस्तीनियों को उनका मुल्क वापस दिलाना है।अमरीका चाहता है कि इस इलाक़े में यहूदियों की सरकार की मौजूदगी को सामान्य बात बना दी जाए। कुछ अरब देशों की अमरीका परस्त सरकारें इसके लिए हालात तैयार कर रही हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles