उडी हमले के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच बड़ते तनाव में भारत के पाकिस्तानी राजदूत अब्दुल बासित ने कशमीर समस्या की और इशारा करते हुए कहा कि जंग किसी मामले का समाधान नहीं हैं.

कोलकाता के अखबार ‘टेलीग्राफ’ को दिए इंटरव्यू में उन्होंने उड़ी आतंकी हमले में पाकिस्तान का हाथ होने से इंकार करते हुए कहा, ”मैं बताना चाहता हूं कि पाकिस्तान का इस हमले से कोई लेना-देना नहीं है.’  भारत की ओर से पाकिस्तान को आतंकवादी मुल्क कहे जाने पर बासित ने कहा- “वह महज जुमलेबाजी है. हम भी ऐसे शब्दों का इस्तेमाल कर सकते हैं, लेकिन उससे कोई मकसद हल नहीं होता। दो देशों के रिश्ते जुमलेबाजी से नहीं चलते.”

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

कश्मीर के मुद्दे पर बासित ने कहा, ‘हमारी किसी क्षेत्र पर दावा करने की न तो इच्छा है और न ही हमारा नजरिया ऐसा है. हम तो यह कहना चाहते हैं कि जम्मू-कश्मीर के लोगों को अपना भविष्य तय करने के लिए बेहतर मौका मिलना चाहिए. अगर वे भारत के साथ खुश हैं और वहां से जुड़ा महसूस करते हैं तो वैसे ही रहें. पाकिस्तान को कोई समस्या नहीं है. लेकिन अपना भविष्य तय करना कश्मीर का हक है. कश्मीर महज एक क्षेत्र भर नहीं है. यह किसी इलाके को लेकर विवाद भर नहीं है. यहां 1 करोड़ 20 लाख लोगों की जिंदगी का सवाल है.’

पाकिस्तान हाफिज सईद और सैयद सलाउद्दीन को भारत के खिलाफ जहर उगलने की इजाजत क्यों देता है? इस पर बासित ने कहा कि ऐसी आवाजें भारत में भी उठती हैं, लेकिन पाकिस्तान या भारत की पॉलिसी लोगों के आग उगलते भाषणों से नहीं तय होतीं.

Loading...