कश्मीर मु़द्दे को पाकिस्तान ने OIC बैठक में उठाया, भारत ने बताया – अंदरूनी मामला

11:54 am Published by:-Hindi News
qureshi

56 इस्लामिक देशों के संगठन इस्लामिक सहयोग संगठन (ओआइसी) की बैठक में पाकिस्तान ने कश्मीर मु़द्दे को उठाया है। जिस पर भारत ने कड़ी आपत्ति जताई है। कहा कि भारत के अंदरूनी मसले की सामूहिक मंच पर चर्चा करना पूरी तरह गलत है।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने यहां कहा, ‘हम इस बात पर खेद व्यक्त करते हैं कि भारत के आंतरिक मामले से जुड़े मुद्दे पर एक बार फिर ओआईसी में चर्चा की गई।’ उन्होंने कहा कि भारत अपने आंतरिक मामलों का इस तरह जिक्र करने को स्वीकार नहीं करता है।

दक्षेस सम्मेलन में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और उनके पाकिस्तानी समकक्ष के बीच किसी तरह की बातचीत की संभावना पर कुमार ने कहा, यह हमने पूरी तरह स्पष्ट कर दिया है कि यह भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय बैठक नहीं है।

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी द्वारा कश्मीर मुद्दा उठाए जाने के बारे में पूछे जाने पर रवीश कुमार ने कहा कि इस्लामाबाद लंबे समय से ऐसा करता रहा है। उन्होंने कहा, यह पहली बार नहीं है कि वे अपनी द्विपक्षीय बैठकों में यह मुद्दा उठा रहे हैं। आप पाएंगे कि पाकिस्तान हमेशा एक तरफा कहानी कहते हैं। वह जो भी साझा करते या कहते हैं उसकी अंतरराष्ट्रीय समुदाय में कहीं भी कोई स्वीकार्यता नहीं है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान को यह अहसास हो गया है कि उसके झूठ और वह जो भी कह रहा है उसे अंतरराष्ट्रीय समुदाय ने पहले ही खारिज कर दिया है।

https://www.youtube.com/watch?v=-KMM7InSq6c

बता दें कि पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने इस्लामिक संगठन सम्मेलन (ओआईसी) के दौरान कहा कि भारत अधिकृत कश्मीर के लोगों पर अत्याचार हो रहा है। संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद एक समिति बनाकर इस मामले की जांच कराए।

कुरैशी ने कहा कि अगर भारत कुछ नहीं छिपा रहा है तो उसे यूएन की समिति को जम्मू-कश्मीर का दौरा करने देना चाहिए। उन्होंने कहा कि माहौल बिगाड़ने के लिए दो जुमले चाहिए, लेकिन हम हालात खराब नहीं करना चाहते। मैं कहने को बहुत कुछ कह सकता हूं, लेकिन मामले को बिगाड़ना नहीं चाहता।

पाक विदेश मंत्री ने कहा कि हम अमन चाहते हैं। हम दोनों मुल्कों की बेहतरी चाहते हैं। कश्मीर के लोगों के अधिकारों की सुरक्षा के लिए पाकिस्तान नैतिक, राजनैतिक और राजनयिक हर तरह से समर्थन देगा।

खानदानी सलीक़ेदार परिवार में शादी करने के इच्छुक हैं तो पहले फ़ोटो देखें फिर अपनी पसंद के लड़के/लड़की को रिश्ता भेजें (उर्दू मॅट्रिमोनी - फ्री ) क्लिक करें