Thursday, June 17, 2021

 

 

 

तख्तापलट की साजिश पर बोली जॉर्डन क्वीन – जल्द सामने आएगी सच्चाई

- Advertisement -
- Advertisement -

जॉर्डन के पूर्व क्राउन प्रिंस हमजा बिन अल-हुसैन की मां रानी नूर ने रविवार को उम्मीद जताई कि जॉर्डन की सुरक्षा को नुकसान पहुंचाने वाले उनके बेटे को कार्रवाई से जोड़ने के आरोपों के बाद “सच्चाई और न्याय की जीत होगी”।

क्वीन नूर ने ट्विटर पर लिखा, “दुआ है कि इस दुष्ट बदनामी के सभी निर्दोष पीड़ितों के लिए सच्चाई और न्याय होगा।” “अल्लाह रहम करे और उसकी पनाह में रखें।”

शनिवार को, पूर्व क्राउन प्रिंस हमजा और जॉर्डन रॉयल कोर्ट के पूर्व प्रमुख बासम इब्राहिम अवदल्लाह सहित 20 लोगों को कथित तौर पर इस आधार पर हिरा’सत में लिया गया है कि वे “जॉर्डन की स्थिरता के लिए ख’तरा पैदा करते हैं”।

जॉर्डन के चीफ ऑफ स्टाफ जनरल यूसेफ ह्यूनिटी ने एक बयान में इस बात से इनकार किया कि प्रिंस हमजा को हिरा’सत में लिया गया था या घर में नजरबंद किया गया था, लेकिन पुष्टि की गई कि उसे जॉर्डन की सुरक्षा और स्थिरता को लक्षित करने के लिए इस्तेमाल होने वाली गतिविधियों को रोकने के लिए कहा गया था।

हालांकि, प्रिंस हमजा ने एक वीडियो में कहा कि वह घर में नजरबंद है और उन पर राजा की आलोचना करने वाली बैठकों का हिस्सा होने का आरोप लगाया गया था। उन्होने कहा, “मैं किसी साजिश या नापाक संगठन या विदेशी समर्थित समूह का हिस्सा नहीं हूं, जैसा कि यहां जो भी बोलता है, उसके लिए हमेशा दावा किया जाता है।”

41 साल के प्रिंस हमजा जॉर्डन के किंग अब्दुल्ला द्वितीय के सौतेले भाई हैं और दिवंगत किंग हुसैन बिन तलाल के सबसे बड़े बेटे हैं। उन्हें फरवरी 7, 1999 को क्राउन प्रिंस बनाया गया था। लेकिन अब्दुल्ला द्वितीय के सबसे बड़े बेटे, हुसैन बिन अब्दुल्ला द्वारा 28 नवंबर, 2004 को हटा दिया गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles