जाॅर्डन और इस्राईल के बीच हुए गैस समझौते के विरोध में अब जोर्डन के नागरिक खुलकर सामने आ गए हैं. उन्होंने बड़े पैमाने पर विरोध-प्रदर्शन आयोजित कर इस समझौते को रद्द किए जाने की मांग की है.

राजधानी अम्मान की सड़कों पर हुए इस प्रदर्शन में बड़े पैमाने पर लोग शामिल हुए हैं. प्रदर्शनकारियों ने गैस समझौते के विरोध में लिखी नारे वाली तख्तियां ली हुई थी. लोगों ने जाॅर्डन सरकार से मांग की कि वह 2016 में इस्राईल से होने वाले इस समझौते को रद्द करे जो देश की आर्थिक प्रगति और स्वाधीनता की राह में रुकावट है.

सितम्बर 2016 में जाॅर्डन की विद्युत ऊर्जा कंपनी और इस्राईल के गैस कंसरशियम के बीच हुए दस अरब डाॅलर के समझोते के अनुसार पंद्रह साल तक इस्राईल की सबसे बड़ी गैस फ़ील्ड से 15 साल तक 85 लाख घन मीटर गैस जाॅर्डन की विद्युत ऊर्जा कंपनी को दी जाएगी.

जार्डन की “अरब पोटश” और “जार्डन ब्रोमिन” कंपनियों ने वर्ष 2014 में 15 वर्षों में दो अरब घन मीटर प्राकृतिक गैस आयात करने के लिए एक समझौते पर हस्ताक्षर किया हुआ हैं. इस गैस की कीमत 77 करोड़ 10 लाख डॉलर बताई जा रही हैं.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?