ang

ang

संयुक्त राष्ट्र (संयुक्त राष्ट्र) के शरणार्थी उच्चायुक्त एंजेलिना जोली ने रोहिंग्याओं पर म्यांमार सेना की और से किये गए अत्याचारों की कड़ी निंदा की.

हॉलीवुड एक्ट्रेस ने कहा कि म्यांमार सेना ने जहां रोहिंग्या मुसलमानों का नस्लीय सफ़ाया किया है, वहीं बड़े पैमाने पर रोहिंग्या महिलाओं का बलात्कार किया है और उन पर अत्याचार भी किए हैं.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

म्यांमार के सैन्य अधिकारियों के ख़िलाफ़ अंतरराष्ट्रीय अदालत में मुक़दमा चलाए जाने की मांग करते हुए जोली ने कहा कि यह एक बड़ी मानवीय त्रासदी है और म्यांमार के सैनिकों के अत्याचारों से बचने के लिए लाखों रोहिंग्या सीमा पार करके बांग्लादेश पहुंचे हैं.

ध्यान रहे जोली दुनिया भर में मानवीय मामलों को बढ़ावा देने और शरणार्थियों के लिए संयुक्त राष्ट्र उच्चायुक्त (यूएनएचसीआर) के माध्यम से शरणार्थियों के के लिए काम करती हैं. जोली ने कनाडा के वैंकूवर में बांग्लादेश विदेश मंत्रालय के एक प्रतिनिधिमंडल के साथ मुलाकात की. इस दौरान उन्होंने रोहिंग्या के खिलाफ हिंसा की निंदा की.

इस दौरान उन्होंने म्यांमार सेना की क्रूरता की शिकार होने वाली रोहिंग्या महिलाओं से भी मुलाक़ात की ख्वाहिश जाहिर की. उनका ये बयान ह्यमैन राइट्स वाच की उस रिपोर्ट के बाद आया है जिसमे म्यांमार की सेना ने रोहिंग्याओं के नस्लीय सफ़ाए के दौरान बड़े पैमाने पर लड़कियों और महिलाओं का बलात्कार की बात कही गई है.

Loading...