गोरखपुर में मेडिकल कॉलेज में 70 से ज्यादा बच्चों की मौत का सिलसिला छत्तीसगढ़ होता हुआ अब झारखंड पहुँच गया है. अब झारखंड के जमशेदपुर 164 बच्चों की मौत का मामला सामने आया है. इन मामलों ने बीजेपी शासित राज्यों में विकास की पोल खोल के रख दी है.

महात्मा गांधी मेमोरियल (एमजीएम) मेडिकल कॉलेज अस्पताल में कुल 117 दिन में 164 बच्चों की मौते कुपोषण से हुई है. इनमें से 60 बच्चों की मौत 30 दिन में ही हुई है. कुपोषण सेबाकि राज्य के हालात और भी बदतर है. इन मौतों से राज्य में हडकंप मचा हुआ है.

डायरेक्टर मेडिकल एंड एजुकेशन डॉ एएन मिश्रा, रीजनल डिप्टी डायरेक्टर डॉ हिमांशु भूषण और सिविल सर्जन डॉ केसी मुंडा को शामिल कर जांच के लिए एक टीम गठित की गई है. टीम ने जांच में पाया कि अस्पताल में हर माह भर्ती होनेवाले बच्चों की संख्या बढ़ रही है. उसी अनुपात में मौत का आंकड़ा भी बढ़ रहा है.

देशक प्रमुख डॉ सुमंत मिश्रा ने कहा कि बच्चों की मौत के कारणों का पता लगाया जा रहा है. अभी तक की जांच में यह बात सामने आयी है कि जिले में संस्थागत प्रसव बढ़ा है. पहले बच्चे की मौत हो जाती थी, तो पता ही नहीं चलता था, लेकिन अब ऐसा नहीं है.

उन्होंने कहा, सरकार शिशु मृत्यु व मातृत्व दर को कम करने के लिए कई योजनाएं संचालित कर रही है. इसका लाभ गर्भवती महिलाओं को उठाने की जरूरत है. उन्हें मालूम होना चाहिए कि सब कुछ निशुल्क है. आयरन व कैल्शियम की दवा भी दी जा रही है.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?